भारत का दूसरा सबसे बड़ा शहर (क्षेत्रफल और जनसंख्या की दृष्टि से) | 2nd Largest City in India

भारत का दूसरा सबसे बड़ा शहर: भारत एक विशाल और विविधतापूर्ण देश है, जहां विभिन्नता में एकता का अद्भुत संगम है। इस देश के प्रमुख शहर और उनकी विशेषताएं इस विविधता का जीवंत प्रमाण हैं। जब हम भारत के सबसे बड़े शहरों की बात करते हैं, तो अनेक नाम सामने आते हैं जैसे दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई आदि। लेकिन आज हम जानेंगे भारत के दूसरे सबसे बड़े शहर के बारे में, जो क्षेत्रफल और जनसंख्या दोनों दृष्टियों से महत्वपूर्ण है।

भारत का दूसरा सबसे बड़ा शहर (क्षेत्रफल और जनसंख्या की दृष्टि से) | 2nd Largest City in India

क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का दूसरा सबसे बड़ा शहर बेंगलुरु (पूर्व नाम बंगलूर या बैंगलोर) है। बेंगलुरु का कुल क्षेत्रफल 741 वर्ग किलोमीटर है, जो इसे क्षेत्रफल के मामले में दूसरा सबसे बड़ा शहर बनाता है। 2024 में बेंगलुरु की अनुमानित जनसंख्या लगभग 1,40,08,262 है, जो इसे जनसंख्या के मामले में भारत में चौथा सबसे बड़ा शहर बनाता है।

जनसंख्या की दृष्टि से भारत का दूसरा सबसे बड़ा शहर मुंबई है। 2024 में मुंबई की अनुमानित जनसंख्या लगभग 2,16,73,149 है, जो इसे दिल्ली के बाद दूसरा सबसे बड़ा शहर बनाती है। मुंबई का कुल क्षेत्रफल 603.4 वर्ग किलोमीटर है, जो इसे क्षेत्रफल के मामले में भारत में पाँचवा सबसे बड़ा शहर बनाता है।

क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का दूसरा सबसे बड़ा शहर: बेंगलुरु

क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का दूसरा सबसे बड़ा शहर बेंगलुरु (पूर्व नाम बंगलूर या बैंगलोर) है। बेंगलुरु का कुल क्षेत्रफल 741 वर्ग किलोमीटर है, जो इसे क्षेत्रफल के मामले में दूसरा सबसे बड़ा शहर बनाता है।

बेंगलुरु का इतिहास बहुत प्राचीन है। यह शहर अपने तकनीकी और आईटी उद्योग के लिए विश्वविख्यात है। बेंगलुरु को ‘सिलिकॉन वैली ऑफ इंडिया’ के नाम से भी जाना जाता है। यह शहर अपनी आधुनिकता और प्रौद्योगिकी के लिए मशहूर है, लेकिन इसका सांस्कृतिक और ऐतिहासिक महत्व भी कम नहीं है।

बेंगलुरु आज भारत का प्रमुख आईटी हब है। यहाँ कई अंतर्राष्ट्रीय कंपनियों के कार्यालय हैं। बेंगलुरु में स्थित टेक्नोपार्क, आईटी कंपनियों के लिए एक प्रमुख स्थान है। इसके अलावा, यहाँ के शैक्षिक संस्थान और स्वास्थ्य सुविधाएं भी बहुत उन्नत हैं।

क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत के 5 सबसे बड़े शहर क्रमशः “दिल्ली, बेंगलूरु, पुणे, हैदराबाद और मुंबई” हैं, जिनका क्षेत्रफल नीचे दिया गया है:

  • दिल्ली का क्षेत्रफल: 1,483 वर्ग किलोमीटर
  • बेंगलूरु का क्षेत्रफल: 741 वर्ग किलोमीटर
  • पुणे का क्षेत्रफल: 700 वर्ग किलोमीटर
  • हैदराबाद का क्षेत्रफल: 650 वर्ग किलोमीटर
  • मुंबई का क्षेत्रफल: 603.4 वर्ग किलोमीटर

जनसंख्या की दृष्टि से भारत का दूसरा सबसे बड़ा शहर: मुंबई

जनसंख्या की दृष्टि से भारत का दूसरा सबसे बड़ा शहर मुंबई है। 2024 में मुंबई की अनुमानित जनसंख्या लगभग 2,16,73,149 है, जो इसे दिल्ली के बाद दूसरा सबसे बड़ा शहर बनाती है।

मुंबई का इतिहास और सांस्कृतिक महत्व बहुत गहरा है। इसे पहले बॉम्बे के नाम से जाना जाता था। यह शहर अपने विविध सांस्कृतिक और ऐतिहासिक धरोहरों के लिए प्रसिद्ध है। गेटवे ऑफ इंडिया, छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस, एलीफैंटा की गुफाएँ और अन्य अनेक स्थल इस शहर की समृद्ध धरोहर को दर्शाते हैं।

मुंबई भारत का वित्तीय केंद्र है। यहाँ बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) स्थित है, जो दुनिया के सबसे बड़े स्टॉक एक्सचेंजों में से एक है। इसके अलावा, मुंबई भारतीय फिल्म इंडस्ट्री का भी केंद्र है, जिसे बॉलीवुड के नाम से जाना जाता है। यह शहर अपनी तेज़ी से भागती जिंदगी और व्यवसायिक अवसरों के लिए मशहूर है।

जनसंख्या की दृष्टि से भारत के चार बड़े शहर क्रमशः “दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंगलूरु” हैं, जिनकी जनसंख्या (2024 अनुमानित) नीचे दी गई है:

  • दिल्ली की जनसंख्या 2024 (अनुमानित): 2,18,80,000
  • मुंबई की जनसंख्या 2024 (अनुमानित): 2,16,73,149
  • कोलकाता की जनसंख्या 2024 (अनुमानित): 1,55,71,000
  • बेंगलूरु की जनसंख्या 2024 (अनुमानित): 1,40,08,262

अन्य प्रमुख शहरों की तुलना

  • दिल्ली: 2024 में दिल्ली की अनुमानित जनसंख्या लगभग 2,18,80,000 है, जो इसे भारत का सबसे बड़ा शहर बनाती है। दिल्ली का कुल क्षेत्रफल 1,483 वर्ग किलोमीटर है, जो इसे क्षेत्रफल के मामले में भी प्रमुख बनाता है। दिल्ली का ऐतिहासिक और सांस्कृतिक महत्व अद्वितीय है। यहाँ की ऐतिहासिक धरोहरें जैसे लाल किला, कुतुब मीनार, और इंडिया गेट इसे विशेष बनाते हैं।
  • कोलकाता: 2024 में कोलकाता की अनुमानित जनसंख्या लगभग 1,55,71,000 है। यह शहर अपने सांस्कृतिक और साहित्यिक महत्व के लिए प्रसिद्ध है। कोलकाता का क्षेत्रफल 185 वर्ग किलोमीटर है। यह शहर भारत का एक प्रमुख व्यापारिक और सांस्कृतिक केंद्र है।
  • पुणे: पुणे का क्षेत्रफल 700 वर्ग किलोमीटर है, जो इसे क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत के बड़े शहरों में से एक बनाता है। पुणे का सांस्कृतिक और शैक्षणिक महत्व भी बहुत अधिक है। यह शहर अपनी शिक्षण संस्थाओं और आईटी उद्योग के लिए जाना जाता है।
  • हैदराबाद: हैदराबाद का क्षेत्रफल 650 वर्ग किलोमीटर है। यह शहर अपने ऐतिहासिक और सांस्कृतिक धरोहरों के लिए प्रसिद्ध है। चारमीनार, गोलकुंडा किला और मक्का मस्जिद जैसी ऐतिहासिक धरोहरें इसे विशेष बनाती हैं।

सारांश

  • दिल्ली: जनसंख्या में सबसे बड़ा (2,18,80,000) और क्षेत्रफल में भी सबसे बड़ा (1,483 वर्ग किलोमीटर) शहर।
  • मुंबई: जनसंख्या में दूसरा सबसे बड़ा (2,16,73,149) और क्षेत्रफल में पाँचवा सबसे बड़ा (603.4 वर्ग किलोमीटर) शहर।
  • कोलकाता: जनसंख्या में तीसरा सबसे बड़ा (1,55,71,000)।
  • बेंगलुरु: क्षेत्रफल में दूसरा सबसे बड़ा (741 वर्ग किलोमीटर)।
  • पुणे: क्षेत्रफल में तीसरा सबसे बड़ा (700 वर्ग किलोमीटर)।
  • हैदराबाद: क्षेत्रफल में चौथा सबसे बड़ा (650 वर्ग किलोमीटर)।

हैदराबाद और मुंबई की तुलना

  • क्षेत्रफल: क्षेत्रफल की दृष्टि से हैदराबाद और मुंबई की तुलना करें तो हैदराबाद का क्षेत्रफल (650 वर्ग किलोमीटर) मुंबई (603.4 वर्ग किलोमीटर) से बड़ा है।
  • जनसंख्या: जनसंख्या की दृष्टि से मुंबई हैदराबाद से बड़ा है। मुंबई की जनसंख्या 2024 में लगभग 2,16,73,149 है, जबकि हैदराबाद की जनसंख्या इससे कम है।
  • आर्थिक विकास: दोनों ही शहरों का आर्थिक विकास उल्लेखनीय है। हैदराबाद जहाँ आईटी और फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्री का केंद्र है, वहीं मुंबई वित्तीय, फिल्म और व्यापार का केंद्र है। दोनों ही शहरों में रोजगार के अवसर बहुत अधिक हैं और यहाँ का जीवनस्तर भी उच्च है।
  • सांस्कृतिक और सामाजिक जीवन:
    • हैदराबाद का सांस्कृतिक जीवन बहुत ही जीवंत और विविध है। यहाँ की भाषा, भोजन, संगीत और त्योहार इस शहर की विविधता को दर्शाते हैं। हैदराबाद की बिरयानी और अन्य स्थानीय व्यंजन विश्वभर में प्रसिद्ध हैं।
    • मुंबई का सांस्कृतिक जीवन भी बहुत ही विविध और रंगीन है। यहाँ विभिन्न धर्म, जाति और समुदाय के लोग मिल-जुलकर रहते हैं। गणेश चतुर्थी, नवरात्रि, दिवाली जैसे त्योहार यहाँ धूमधाम से मनाए जाते हैं। इसके अलावा, मुंबई की नाइटलाइफ और यहाँ के समुद्री तट लोगों के लिए खास आकर्षण हैं।
  • शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाएं:
    • हैदराबाद में उच्च शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाएं बहुत अच्छी हैं। यहाँ अनेक प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थान और विश्वविद्यालय हैं, जैसे उस्मानिया विश्वविद्यालय, आईआईटी हैदराबाद, और इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी। स्वास्थ्य सेवाओं में भी हैदराबाद अग्रणी है, यहाँ के अस्पताल और मेडिकल सुविधाएं उच्च स्तरीय हैं।
    • मुंबई में भी उच्च शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाएं उच्चतम स्तर की हैं। यहाँ के प्रमुख शिक्षण संस्थान हैं: मुंबई विश्वविद्यालय, आईआईटी बॉम्बे, और टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज। स्वास्थ्य सेवाओं में भी मुंबई अग्रणी है, यहाँ के अस्पताल जैसे टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल और कस्तूरबा हॉस्पिटल अपने उत्कृष्ट सेवाओं के लिए जाने जाते हैं।
  • यातायात और परिवहन:
    • हैदराबाद में यातायात और परिवहन की सुविधाएं भी अच्छी हैं। यहाँ का राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा देश के प्रमुख हवाई अड्डों में से एक है। इसके अलावा, मेट्रो रेल सेवा, बस सेवा और अन्य सार्वजनिक परिवहन के साधन भी उपलब्ध हैं।
    • मुंबई का छत्रपति शिवाजी महाराज अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा देश का सबसे व्यस्ततम हवाई अड्डा है। मुंबई की लोकल ट्रेन सेवा यहाँ के परिवहन का मुख्य आधार है। इसके अलावा, बस सेवा, टैक्सी और ऑटो रिक्शा जैसे सार्वजनिक परिवहन के साधन भी यहाँ की यातायात व्यवस्था को सुगम बनाते हैं।

निष्कर्ष

भारत के दूसरे सबसे बड़े शहर के रूप में बेंगलुरु और मुंबई दोनों का ही अपना-अपना महत्व है। क्षेत्रफल की दृष्टि से बेंगलुरु और जनसंख्या की दृष्टि से मुंबई का स्थान प्रमुख है। दोनों ही शहर अपने ऐतिहासिक, सांस्कृतिक, आर्थिक और सामाजिक महत्व के लिए जाने जाते हैं। यहाँ का जीवनस्तर, रोजगार के अवसर, शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाएं, और परिवहन की सुविधाएं इन्हें भारत के प्रमुख शहरों में से एक बनाते हैं।

भारत के इन दो महानगरों की विशिष्टताएं और विशेषताएं हमें यह सिखाती हैं कि विविधता में भी एकता है, और यह विविधता ही हमारे देश की सबसे बड़ी ताकत है। चाहे बेंगलुरु हो या मुंबई, दोनों ही शहर भारत के विकास और समृद्धि का प्रतीक हैं।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top