Bharat ke Shiksha Mantri Kaun Hai : स्वागत है, दोस्तो! आज इस आर्टिकल में आपको भारत के शिक्षा मंत्री कौन हैं (Who is The Who is The Education Minister of India), अभी तक भारत में कितने शिक्षा मंत्री बन चुके हैं और कौन-कौन भारत का शिक्षा मंत्री (Shiksha Mantri) हो चुके हैं की पूरी जानकारी यानी भारत के शिक्षा मंत्रियों की सूची (Education Minister of India Since 1947 and List) के साथ शिक्षा मंत्री के दायित्व क्या होते हैं इत्यादि के बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी।

Bharat Ke Shiksha Mantri
Bharat Ke Shiksha Mantri

अगर आप भारत के शिक्षा मंत्री कौन है (Bharat Ka Shiksha Mantri Kaun Hai) और भारत के शिक्षा मंत्री का काम क्या होता है के बारे में जानना चाहते हैं, तो इस पोस्ट को ध्यान से पूरा पढ़ें। आइए जानते हैं भारत के शिक्षा मंत्री के बारे में (Education Minister of India)।

भारत के शिक्षा मंत्री में कौन हैं 2021 ॰ Education Minister of India 2021

वर्तमान में भारत के शिक्षा मंत्री (Education Minister of India 2021) – श्री रमेश पोखरियाल निशंक (Mr Ramesh Pokhriyal Nishank) हैं। नई शिक्षा नीति जारी होने से पहले भारत में शिक्षा मंत्री [Shiksha Mantri] को मानव संसाधन विकास मंत्री के रूप में जाना जाता था।

नई शिक्षा नीति जारी होने के बाद भारत सरकार ने मानव संसाधन विकास मंत्री (HRD Minister) का नाम बदलकर शिक्षा मंत्री (Shiksha Mantri) कर दिया है। भारत के राष्ट्रपति ने नए शिक्षा मंत्री (Education Minister of India) के रूप में श्री रमेश पोखरियाल को 30 मई 2019 को शपथ दिलाई थी।

Education Minister of India office Contact Details

भारत के शिक्षा मंत्री [Bharat ke Shiksha Mantri] से contact करने के लिए उनके ऑफ़िस [Education Minister of India office Contact] की पूरी Detail नीचे दी गई है.

शिक्षा मंत्री का नाम श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’
अधिकारिक ई-मेल आईडी minister.sm@gov.in
कार्यालय दूरभाष नंबर +91-11-23782698/23782387
फैक्स नंबर +91-11-23382365
सामान्य अनुरोध के लिये ईमेल आईडी request-hrd@gov.in
नियुक्ति/निमंत्रण के लिये app-hrd@gov.in
Education Minister of India office Contact Details

भारत के शिक्षा मंत्रियों की सूची [1947-2021] ॰ List of Education Minister of India Since 1947

भारत की आज़ादी के बाद देश में कौन-कौन से लोग भारत के शिक्षा मंत्री के रूप में शपथ ले चुके हैं। आइए जानते हैं List of Education Minister of India Since 1947. नीचे दी गई टेबल में भारत के पहले शिक्षा मंत्री से लेकर वर्तमान (2021) तक के भारत के शिक्षा मंत्रियों की सूची दी गई है.

नंबर शिक्षा मंत्री का नाम शिक्षा मंत्री की फ़ोटो कार्य अवधि [कब से कब तक]
भारत के पहले शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आज़ाद [Maulana Abul Kalam Azad]
Maulana Abul Kalam Azad - Bharat Ke Shiksha Mantri
Maulana Abul Kalam Azad - Bharat Ke Shiksha Mantri
15 August 1947 से 2 February 1958 तक
भारत के दूसरे शिक्षा मंत्री के एल श्रीमलि [K. L. Shrimali] 2 February 1958 से 31 August 1963 तक
भारत के तीसरे शिक्षा मंत्री हुमायूँ कबीर [Humayun Kabir] 1 September 1963 से 21 November 1963 तक
भारत के चौथे शिक्षा मंत्री एम सी छागला [M. C. Chagla]
M C Chagla - Education Minister of India
M C Chagla - Education Minister of India
21 November 1963 से 13 November 1966 तक
भारत के 5वें शिक्षा मंत्री फखरुद्दीन अली अहमद [Fakhruddin Ali Ahmed] 14 November 1966 से 13 March 1967 तक
6वें त्रिगुणा सेन [Triguna Sen] 16 March 1967 से 14 February 1969 तक
भारत के 7वें शिक्षा मंत्री वी के आर वी राव [V. K. R. V. Rao] 14 February 1969 से 18 March 1971 तक
भारत के 8वें शिक्षा मंत्री सिद्धार्थ शंकर रे [Siddhartha Shankar Ray] 18 मार्च 1971 से 20 मार्च 1972 तक
9वें एस नुरुल हसन [S. Nurul Hasan] 24 मार्च 1972 से 24 मार्च 1977 तक
10वें प्रताप चंद्र चंदर [Pratap Chandra Chunder] 26 मार्च 1977 से 28 जुलाई 1979 तक
11वें डॉ कर्ण सिंह [Dr Karan Singh] 30 जुलाई 1979 से 14 जनवरी 1980 तक
12वें बी शंकरानंद [B. Shankaranand] 14 जनवरी 1980 से 17 अक्टूबर 1980 तक
13वें शंकरराव चव्हाण [Shankarrao Chavan] 17 अक्टूबर 1980 से 8 अगस्त 1981 तक
14वें शीला कौल [Sheila Kaul] 10 अगस्त 1981 से 31 दिसंबर 1984 तक
15वें के सी पंत [K. C. Pant] 31 दिसंबर 1984 से 25 सितंबर 1985 तक
16वें पी वी नरसिम्हा राव [P. V. Narasimha Rao] 26 सितंबर 1985 से 25 जून 1988 तक
17वें पी शिव शंकर [P. Shiv Shankar] 25 जून 1988 से 2 दिसंबर 1989 तक
18वें वी पी सिंह [V. P. Singh] 2 दिसंबर 1989 से 10 नवंबर 1990 तक
19वें राजमंगल पांडे [Rajmangal Pandey] 21 नवंबर 1990 से 21 जून 1991 तक
भारत के 20वें शिक्षा मंत्री अर्जुन सिंह [Arjun Singh] 23 जून 1991 से 24 दिसंबर 1994 तक
21वें पी वी नरसिम्हा राव [P. V. Narasimha Rao] 25 दिसंबर 1994 से 9 फरवरी 1995 तक
22वें माधवराव सिंधिया [Madhavrao Scindia] 10 फरवरी 1995 से 17 जनवरी 1996 तक
23वें पी वी नरसिम्हा राव [P. V. Narasimha Rao] 17 जनवरी 1996 से 16 मई 1996 तक
24वें अटल बिहारी वाजपेयी [Atal Bihari Vajpayee] 16 मई 1996 से 1 जून 1996 तक
भारत के 25वें शिक्षा मंत्री एस आर बोम्मई [S. R. Bommai] 5 जून 1996 से 19 मार्च 1998 तक
26वें मुरली मनोहर जोशी [Murli Manohar Joshi] 19 मार्च 1998 से 21 मई 2004 तक
27वें अर्जुन सिंह [Arjun Singh] 22 मई 2004 से 22 मई 2009 तक
28वें कपिल सिब्बल [Kapil Sibal] 29 मई 2009 से 29 अक्टूबर 2012 तक
29वें एम एम पल्लम राजू [M. M. Pallam Raju] 30 अक्टूबर 2012 से 26 मई 2014 तक
भारत के 30वें शिक्षा मंत्री स्मृति ईरानी [Smriti Irani] 26 मई 2014 से 5 जुलाई 2016 तक
31वें प्रकाश जावड़ेकर [Prakash Javadekar] 6 जुलाई 2016 30 मई 2019
32वें रमेश पोखरियाल [Ramesh Pokhriyal] 30 मई 2019 से 29 जुलाई 2020 तक
भारत के 33वें शिक्षा मंत्री ॰ वर्तमान शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल [Ramesh Pokhriyal] 29 जुलाई 2020 से अभी तक

First Education Minister of India ॰ भारत के पहले शिक्षा मंत्री

भारत के प्रथम शिक्षा मंत्री (First Education Minister of India) – ‘श्री मौलाना अबुल कलाम आज़ाद’ थे। मौलाना अबुल कलाम जी को 15 अगस्त 1947 को भारत के पहले शिक्षा मंत्री (1st Education Minister of India) के रूप में शपथ दिलाई गई थी। इनका कार्यकाल 10 साल 5 महीने का था, वो 15 अगस्त 1947 से 22 जनवरी 1958 भारत के शिक्षा मंत्री थे।

भारत के पहले शिक्षा मंत्री (First Education Minister of India) श्री मौलाना अब्दुल कलाम का जन्म 11 नवम्बर 1888 को मक्का (Makkah) में हुआ था, जो ओटोमन साम्राज्य (Ottoman Empire) का एक हिस्सा था।

उनका असली नाम ‘सैय्यद गुलाम मुहियुद्दीन अहमद बिन खैरुद्दीन अल हुसैनी’ था, उन्हें उनके सिम्पल नाम – मौलाना अबुल कलाम आज़ाद के सभी लोग जानते थे। अबुल कलाम के पिता अफगान वंश के एक बंगाली मुस्लिम विद्वान थे। उनके पिता की मृत्यु होने के बाद बचपन से ही अबुल कलाम अपने नाना जी के साथ दिल्ली में रहते थे।

भारत के पहले शिक्षा मंत्री बनने के बाद अबुल कलाम जी भारत के शिक्षा क्षेत्र को बेहतर बनाने के लिए देश में IIT जैसे बेहतरीन शिक्षण संस्थाओं की स्थापना करवाई थी।

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस – भारत ॰ National Education Day (India)

मौलाना अबुल कलाम आज़ाद स्वतंत्र भारत के पहले शिक्षा मंत्री थे। शिक्षा के क्षेत्र में उनके योगदान की स्मृति में भारत में हर साल 11 नवंबर को भारत का राष्ट्रीय शिक्षा दिवस मनाया जाता है।

राष्ट्रीय शिक्षा दिवस (National Education Day) के दिन भारत सरकार हर वर्ष देश में कई कार्यक्रम आयोजित करती है।

वर्तमान शिक्षा मंत्री श्री रमेश पोखरियाल निशंक जी

भारत के वर्तमान शिक्षा मंत्री – श्री रमेश पोखरियाल निशंक (Mr Ramesh Pokhriyal Nishank) है का जन्म 15 जुलाई 1959 को भारत के उत्तर में स्थित राज्य उतराखंड के पौढ़ी गढ़वाल में हुआ था. साहित्यिक विधा से जुड़े और हिंदी कवि श्री रमेश जी ने 30 मई 2019 को भारत के शिक्षा मंत्री (Education Minister of India) के रूप में शपथ ली थी.

आपको बता दें कि नई शिक्षा नीति जारी होने से पहले भारत में शिक्षा मंत्री [Shiksha Mantri] को मानव संसाधन विकास मंत्री (HRD Minister) के रूप में जाना जाता था।

पूरा नाम श्री रमेश पोखरियाल निशंक
जन्म तिथि 15 July 1959
वर्तमान पद सांसद और भारत के शिक्षा मंत्री [Bharat ke Shiksha Mantri]

Ramesh Pokhriyal Nishank Contact Detail

भाजपा सांसद और मोदी सरकार में भारत के वर्तमान शिक्षा मंत्री [Bharat ke Shiksha Mantri] श्री Ramesh Pokhriyal Nishank जी से Contact करने के लिए पूरी जानकारी नीचे दी गई है.

Full Name Mr Ramesh Pokhriyal Nishank
Father Name Late Mr Parmanand Pokhriyal
Personal Email drrameshpokhriyal@gmail.com
Permanent Address 37/1 Vijay colony, Ravindranath Tagore Marg, Dehradun, Uttarkhand
Contact Number 9456597100 [PA]
0135-2746363 [office]

भारत की पहली महिला शिक्षा मंत्री कौन हैं ॰ First Woman Education Minister of India

भारत की पहली महिला शिक्षा मंत्री [First Woman Education Minister of India] – स्मृति इरानी [Smriti Irani] हैं. इन्होंने नरेंद्र मोदी की सरकार में 23 जनवरी 2018 को भारत के शिक्षा मंत्री [Bharat ke Shiksha Mantri] के रूप में शपथ ली थी. शिक्षा मंत्री [Bharat ke Shiksha Mantri] के रूप में इनका कार्यकाल 2 वर्ष 1 महीने 10 दिन का था [26 May 2014 से 5 July 2016 तक].

शिक्षा मंत्रालय [Ministry of Education]

भारत का शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार का एक हिस्सा है, जो देश में मानव संसाधनों और शैक्षिक प्रणाली के विकास के लिए जिम्मेदार है। नई Education Policy आने से पहले भारत के शिक्षा मंत्रालय को मानव संसाधन विकास मंत्रालय के नाम से जाना जाता था.

भारत के शिक्षा मंत्रालय को दो अलग-अलग विभागों में विभाजित किया गया है :-

  • स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग (Department of School Education and Literacy) : जो प्राथमिक शिक्षा और साक्षरता के विभिन्न पहलुओं के आयोजन और वित्त पोषण के लिए जिम्मेदार है.
  • उच्च शिक्षा विभाग [Department of Higher Education] : यह विभाग माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक के लिए शिक्षा से जुड़े काम करता है और वित्त पोषण के लिए जिम्मेदार है।

शिक्षा मंत्रालय या मानव संसाधन विकास मंत्रालय, मंत्रिपरिषद के सदस्य के रूप में कैबिनेट रैंक के एक मंत्री के नेतृत्व में है काम करता है। भारत के शिक्षा मंत्रालय के वर्तमान प्रमुख श्री रमेश पोखरियाल निशंक (Mr Ramesh Pokhriyal Nishank) हैं.

शिक्षा मंत्री के दायित्व ॰ Shiksha Mantri Ki Responsibilities

देश की शिक्षा व्यवस्था में सुधार और इसके लिए नियम-क़ानून बनाने का काम शिक्षा मंत्रालय का होता है, इस मंत्रालय का मुखिया शिक्षा मंत्री [Shiksha Mantri] होता है. शिक्षा मंत्री के दायित्व (Responsibilities of Education Minister) निम्न हैं :

  • शिक्षा मंत्री कैबिनेट के परामर्श से नीतियां बनाते हैं। वह नीतियों के कार्यान्वयन के लिए जिम्मेदार है। उन्हें शिक्षा सचिव और डीपीआई (निदेशक सार्वजनिक निर्देश) द्वारा सहायता प्रदान की जाती है।
  • शिक्षा मंत्री का कर्तव्य है कि वह सुनिश्चित करें कि उनकी देखरेख में देश के सभी बच्चे नियमित रूप से स्कूल जाएँ और अच्छी तरह से पढ़ाई करें।

निष्कर्ष ॰ Bharat ke Shiksha Mantri Kaun Hai?

आपने इस आर्टिकल में ‘भारत के शिक्षा मंत्री कौन है – [Education Minister of India], Bharat ke Shiksha Mantri ka Kya Naam Hai, First Education Minister of India, Shiksha Mantri का क्या काम होता है इत्यादि शिक्षा मंत्री [Shiksha Mantri] से जुड़ी पूरी जानकारी आपको इस पोस्ट में मिल गई होगी.

आशा करते हैं, कि हमारी यह पोस्ट Bharat ke Shiksha Mantri [Education Minister of India] ज़रूर पसंद आई होगी. इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया जैसे कि फेसबुक, Twitter, WhatsApp, Telegram इत्यादि में ज़रूर शेयर करें.