Bharat Ki Sabse Lambi Nadi Kaun Si Hai : स्वागत है दोस्तों! इस ब्लॉग पोस्ट में हम आपको भारत की सबसे लंबी नदी कौन सी है (Bharat Ki Sabse Lambi Nadi) या भारत की सबसे बड़ी नदी कौन सी है (Bharat Ki Sabse Badi Nadi) के बारे में विस्तार से जानकारी देने वाले हैं।

भारत को पवित्र नदियों की भूमि कहा जाता है, क्योंकि हमारे इस देश में गंगा जैसे पावन नदी बहती है जिसको मोक्ष जाने का रास्ता माना जाता है। गंगा नदी ही दुनिया में एक ऐसी नदी है, जिसका पानी आप चाहे कई सालों तक रख लें लेकिन कभी ख़राब नही होता। पूरी दुनिया में जितनी भी सभ्यताएँ विकसित हुई हैं, वो सब किसी ना किसी नदी के तट पर ही पनपी हैं। इसी वजह से नदियों को जीवन दायिनी और हमारे जीवन के लिए उपयोगी माना जाता है। भारत की नदियों में सबसे ख़ास बात ये है की यहाँ की ज़्यादातर नदियां बंगाल की खाड़ी के समुद्र में जाकर मिलती है और शेष कुछ नदियाँ अरब सागर के समुद्र में विलय हो जाती हैं। आइए जानते हैं :

Bharat Ki Sabse Lambi Nadi Kaun Si Hai | भारत की सबसे लंबी नदी कौन सी है

भारत की सबसे लंबी नदी ‘गंगा नदी’ है। इस नदी की कुल लम्बाई 2525 किलोमीटर है। हालाँकि भारतीय उपमहाद्वीप की दो प्रमुख लंबी नदियाँ – ब्रह्मपुत्र और सिंधु हैं, इन दोनों नदियों की कुल लंबाई गंगा नदी से ज़्यादा है। लेकिन भारत में इनकी लंबाई गंगा से कम है। इसीलिए गंगा को भारत की सबसे बड़ी नदी माना जाता है।

Bharat Ki Sabse Lambi Nadi Kaun Si Hai
Bharat Ki Sabse Lambi Nadi Kaun Si Hai

गंगा नदी : भारत की सबसे बड़ी नदी

भारत की सबसे बड़ी नदी (Bharat Ki Sabse Lambi Nadi) ‘गंगा’ भारत की सबसे महत्त्वपूर्ण नदी भी है। यह नदी उत्तराखंड राज्य के गढ़वाल में हिमालय के गौमुख नामक स्थान पर गंगोत्री हिमनद (GURUKUL) से निकलती हैं। गंगा के इस उद्गम स्थल की ऊँचाई 3140 मीटर है। इसके बाद यह पवित्र नदी भारत और बांग्लादेश में कुल मिलाकर 2525 किलोमीटर की दूरी तय करते हुए बंगाल की खाड़ी में जाकर समुद्र में मिल जाती है। गंगा को बांग्लादेश में पदमा नदी के नाम से जाना जाता है।

इसे भी पढ़ें :   सोन नदी उलटी दिशा में क्यों बहती है, जानिए इसका मुख्य कारण

गंगा नदी को हिंदू धर्म में पवित्र नदी माना जाता है। Bharat Ki Sabse Badi Nadi गंगा देश की प्राकृतिक सम्पदा ही नहीं, जन-जन की भावनात्मक आस्था का आधार भी है। यह अपनी सहायक नदियों के साथ भारत और बांग्लादेश में 10 लाख वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल के अति विशाल उपजाऊ मैदान को सिंचित करती है।

भारत की सबसे लंबी नदी गंगा के बारे में कुछ जानकारियाँ

देशभारत, नेपाल, बांग्लादेश
उद्गम स्थानगंगोत्री हिमनद, उत्तराखण्ड, भारत
मुहानासुंदरवन (बंगाल की खाड़ी), बांग्लादेश
कुल लंबाई2,525 कि.मी. (1,569 मील)
प्रवाह औसत12,015 मी.³/से. (4,24,306 घन फीट/से.)
उपनदियाँ– बाएँ : महाकाली, करनाली, कोसी, गंडक, सरयू
– दाएँ : यमुना, सोन नदी, महानंदा

भारत की सबसे लंबी नदी – ‘गंगा’ उतराखंड, उतरप्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल से होते हुए बांग्लादेश में प्रवेश करती है और फिर बंगाल की खाड़ी में जाकर समुद्र से मिल जाती है। यह भारत के एक-चौथाई भाग में बहती है। गंगा नदी के तट पर स्थित कुछ प्रमुख शहरों के नाम – ‘ऋषिकेश, हरिद्वार, कानपुर, इलाहाबाद, वाराणसी, पटना, भागलपुर, फरक्का बैराज (मालदा)’ हैं।

इसे भी पढ़ें :   झीलों का नगर किसे कहा जाता है | Jhilo ki Nagri Kise Kaha Jata Hai

इसे भी पढ़ें : River Meaning in Hindi

निष्कर्ष

आशा करते हैं कि आपको हमारी यह पोस्ट भारत की सबसे लंबी नदी कौन सी है पसंद आएगी। इस पोस्ट ‘Bharat Ki Sabse Lambi Nadi Kaun Si Hai‘ को सोशल मीडिया में ज़रूर शेयर करें ताकि Bharat Ki Sabse Badi Nadi के बारे में सभी लोगों को सही जानकारी मिल सके।

इसे भी पढ़ें :   चिल्का झील किस राज्य में स्थित है | Chilka Jheel Kis Rajya Me Sthit Hai