Blog Post Publish करने से पहले इन 11 points को check कर लें

Hello दोस्तो, क्या आपके साथ कभी ऐसा हुआ है की आपको अपनी post publish करने के बाद उसमें कोई कमी लगती है, या फिर आप अपनी कोई post लिखने के बाद सोचते हैं की इसमें कोई ग़लती तो नही रह गयी? तो आपको अपनी इस problem का solution इस post के ज़रिए मिल जाएगा, क्यूँकि इस पोस्ट में मै आपको बताऊँगा की आपको अपने blog की post publish करने से पहले किन बातों को ध्यान देना चाहिए।
seo-friendly-blog-post-kaise-likhe
seo-friendly-blog-post-kaise-likhe

आगर आप अपने blog पर बेहतर posts publish करना चाहते हैं तो अपनी हर एक पोस्ट को पब्लिश करने से पहले नीचे दी गयी सभी बातों को अपनी पोस्ट पब्लिश checklist में शामिल कर लें। तो फिर आइए शुरू करते हैं :

जब भी हम हमारे blog में post लिखते हैं तो उसका एक format होता है की हमें सबसे पहले क्या करना है उसके बाद क्या और आगे किस flow में चलना है। अगर आप step-by-step चलेंगे तो आपकी हर पोस्ट बहुत बढ़िया होगी और उसमें कोई कमी नही रह पाएगी। और वो पोस्ट Google Automatic Index कर देगा।

पूरी कोशिश करें की post को पब्लिश करने के बाद Edit करने की ज़रूरत ना पड़े, और पूरी तरह से पोस्ट तैयार होने के बाद ही publish करें। पर अगर कहीं कोई edit करने की ज़रूरत पड़ती है तो बाद में कर सकते हैं।

Contents hide

Post Publish करने से पहले इन बातों पर ज़रूर ध्यान दें –

Post लिखने की starting होती है keyword से, जिस keyword पर आपको post लिखनी है, सबसे पहले तो आप उस keyword को लिखें, आप जिस topic पर post लिखने जा रहें हैं अगर आपको उसकी अच्छी जानकारी नही है तो सबसे पहले आप उसकी पूरी जानकारी लें, फिर पोस्ट लिखना शुरू करें।

पहले short में देख लेते हैं की Post Publish करने से पहले कैसे और क्या करना है –

  1. सबसे पहले तो topic select करें जिसपर आप post लिखना चाहते हैं।
  2. उस topic के बारे में पूरी जानकारी लें।
  3. पोस्ट को लिख कर ड्राफ़्ट में save कर दें।
  4. SEO करें – जैसे की Title, tags, Images, Permalink सभी का।
  5. On-Page SEO check कर लें।
  6. Proof Reading करें।
  7. किसी अच्छे PLAGIARISM CHECKER से Duplication चेक कर लें क्यूँकि आप जो लिख रहें हैं उसमें से कुछ किसी दूसरी website से मैच भी हो सकता है, इसलिए पहले PLAGIARISM check करें।
  8. PLAGIARISM CHECKER में अगर आपकी Post का Score 100% unique Content का आ रहा है तो post publish कर दें अगर कोई PLAGIARISM Detect हो रहा है तो उसको Edit करके Change कर लें उसके बाद post publish करें।
Read More :   SEO क्या है और क्यूँ ज़रूरी है? What is SEO and why SEO important?

जैसे मैंने बताया अगर आप इस process से चलेंगे तो आपकी हर post Google Index करेगा और आपको कोई Copyright Issue कभी नही आएगा। Google Index की वजह से आपकी Website or Blog में Organic Traffic भी बढ़ेगा।
चलिए अब हम उन सभी Points को Detail में समझते हैं। जिन्हें हमें किसी पोस्ट को पब्लिश करने से पहले check करना है।

अपनी post का Title अच्छा लिखें –

Post पब्लिश करने से पहले ये confirm करलें की क्या आपकी पोस्ट का Title आपकी post के content को दर्शा रहा है। आपकी पोस्ट का Title आकर्षक होना चाहिए, क्यूँकि अगर आपकी पोस्ट का title ही बोरिंग और बेकार होगा तो कोई User आपकी Post को Open नही करेगा। Users के नज़रिए से अपनी post का Title ऐसा रखें की user Title देख कर क्लिक करे और आपकी Post पढ़े।
इस बात का भी ध्यान रखें की आप अपनी पोस्ट का Title को इतना बढ़ा-चढ़ा कर भी ना लिखें की readers को पोस्ट में अपनी आशा के अनुसार content ना मिले, इससे Reader ग़ुस्सा हो सकते हैं जो की आपके blog के लिए नुक़सान दायक होगा। ऐसे user दोबारा आपके Blog में Visit नही करेंगे।

अपनी Post का Grammer और Spelling ग़लतियाँ चेक करें –

Post publish करने से पहले अपनी पोस्ट में grammer और speling की ग़लतियाँ सुधार लें। कई blogger अपनी Post की Spelling mistakes पर ध्यान नही देते हैं। लेकिन जब Readers Post को पढ़ते हैं और उन mistakes को देखते हैं, तो एक ग़लत impression बनता है।
आप चाहे तो अपने किसी दोस्त या Family Member को अपनी post को Proof Read करने के लिए कह सकते हैं ताकि वो आपको उन ग़लतियों के बारे में बता सकें। या फिर आप पोस्ट को एक बार लिख कर draft में save कर लें फिर 3-4 Hours बाद Fresh मन से पोस्ट को एक Reader के जैसे पूरा पढ़ें। फिर जहाँ भी कोई ग़लती होगी आपको समझ आ जाएगी।

Post को आसानी से पढ़ने लायक़ बनाएँ –

आप अपनी पोस्ट को short paragraphs में लिखने की कोशिश करें, इससे Readers को Post पढ़ने में आसानी होती है। आप अपनी पोस्ट में Headings, Sub Heading का use भी ज़रूर करें, इससे आपकी post बढ़िया लगती है और इससे Readers भी post को अच्छे से  समझ पाते हैं।
Post में आप जो जानकारी देना चाहते हैं उसको clear तरीक़े से लिखें, Text में Highlight, Bold, Italic का भी use करें।

अपनी Post में Interlinking ज़रूर करें-

आप अपनी पोस्ट में Interlinking करना ना भूलें। Interlinking मतलब पोस्ट में अपने ही ब्लॉग की दूसरी posts का लिंक Add करना। Interlinking करना SEO के लिए भी काफ़ी ज़रूरी और फ़ायदेमंद होता है।

इस बात का ध्यान रखें की Interlinking का Use Readers की सुविधा अनुसार करें यानी की उस जगह पर post को लिंक करें जहाँ ज़रूरत हो। Interlinking Bounce Rate को कम करने में भी मदद करता है।

Read More :   Blogging के फ़ायदे नुक़सान की पूरी जानकारी- Blogging Guide in hindi

Category और Tags का use करें –

अपनी Post के लिए Suitable Category और Tags का use करें। ऐसा करने से आपके readers को आपके  Blog में आसानी से Navigate करने में मदद मिलेगी और साथ ही Search Engine को भी इससे आपकी post के Topic के बारे में पता करने में मदद मिलेगी।
कई Bloggers ये भी ग़लती करते हैं की एक ही Post में बहुत सारी categories and tags का use कर लेते हैं। कोशिश करें की एक पोस्ट के साथ 2-3 से ज़्यादा categories और 4-6 से ज़्यादा tags use ना करें।

Image में Alt Tags और Name Use करें –

सबसे पहले तो ये ध्यान रखें की अपनी post में कम से कम 1 image ज़रूर add करें और उसमें Alt Tag भी ज़रूर use करें।
Alt Tag, Search Engine को बताता है की Image किस बारे में है, Search Engine Image को अपने आप Read नही कर सकता। इसलिए अपनी post के Images में alt ज़रूर use करें।
आपकी Image Post के content के अनुसार होनी चाहिए। Post में बहुत सारी images add करने से भी बचें, Post के लिए FREE Stock Image का use करें। किसी भी Copyright Image का use ना करें।
बहुत से Blogger जिनको इस बारे में जानकारी नही है तो वो Google में Image Search करके Direct use कर लेते हैं ये ग़लती करने से बचें और Copyright Image Use ना करें।

Focus Keyword को ध्यान में रखकर अपना Post लिखें — 

Post लिखते समय आपकी Post का एक  Focus Keyword जरूर होना चाहिए। आपकी Post सर्च इंजन में अच्छी रैंकिंग हासिल कर सकती है अगर आप Focus Keyword को सही जगह पर place करेंगे
अपनी Post  के Focus Keyword  को Post के Title, Permalink, Meta Discription और Post के first paragraph में ज़रूर Add करें।

Post में Call-to-Action  यूज़ करें — 

अपनी Post के End में CTA यानी call-to-action का use करना ना भूलें। call-to-action का मतलब है कि आप अपने Readers से उस Post को पढ़ने के बाद क्या कराना चाहते हैं, मतलब कि अगर आपने Motivational Post लिखी  है तो आप चाहेंगे कि Readers आप की Post पढ़ने के बाद पॉजिटिव Action लें।
अगर आपने किसी प्रोडक्ट की review Post लिखी है तो आप चाहेंगे कि Post पढ़ने के बाद Reader उस Product को purchase करें या फिर आप Call-to-Action का use, Reader से Post पर Comment करवाने और Blog को सब्सक्राइब करने और  सोशल मीडिया पर Follow करने के लिए कर सकते हैं।

Call-to-Action का उदाहरण – 

आपको यह Post कैसी लगी कमेंट करके हमें जरूर बताएं। क्या आपको यह Post पसंद आई ऐसे ही Post पाने के लिए हमारे Blog को सब्सक्राइब करें।
हमें हमारी Post का बहुत जरूरी Part होता है . अगर आपको इसकी  डिटेल में जानकारी चाहिए तो आप कमेंट में बताएं।

अपनी Post में Copy Content  यूज ना करें – 

ऊपर जितने भी पॉइंट बताए गए हैं वह किसी भी Blog Post में होना जरूरी है और यह पॉइंट “Copy Content” वह Post में बिल्कुल ना हो उसका भी ध्यान रखें।
आप जब भी Post लिखें तो ध्यान रखें कि आप कहीं से कॉपी ना करें जो Image हो वह भी कॉपीराइटेड ना हो।
Post में कभी भी Hacking, Cracking या फिर कोई ऐसी जानकारी ना दें जिससे किसी का भी नुकसान हो सकता हो। इससे हो सकता है, आपके Blog में कुछ Visitors आ जाएँ पर आप ऐसा करके Google Adsense से Earning नही कर पाएँगे।
 

Post लिखते समय यह ध्यान रखें कि User को जो चाहिए वह मिल रहा है कि नहीं –

Post को पूरा लिखने के बाद आप अपनी Post को एक reader (User) की तरह पढ़ें और देखें कि आपको जिस तरह को जानकारी चाहिए थी ठीक उसी तरह पूरी जानकारी Post में मिल रही है कि नहीं और आपको जो भी कमी दिखे उसे ठीक करें।
 

Post की ParmaLink (URL)  को सेट करें – 

Post की ParmaLink (URL), SEO के नजरिए से बहुत ज्यादा जरूरी है और  हमेशा यह छोटी होनी चाहिए ताकि User उस Permalink (URL) को देखकर समझ जाए की पेज में क्या है?
 अगर आप ParmaLink (URL)  Set नहीं करेंगे तो जैसे ही Post publish करेंगे Automatic Post का Title, Permalink  बन जाएगा जिसके कारण URL Link बहुत लंबी हो जाती है
 अगर आप Post पब्लिश करने के बाद उसको एडिट करेंगे तो पुराना URL, Google में 404 Error दिखाएगा जो हमारी वेबसाइट के लिए बहुत हानिकारक है और blogger.com में Post पब्लिश करने के बाद आप Permalink को  Edit भी नही सकते हैं।

अगर फिर  भी कभी URL Edit करना पड़े तो पुराने 404 URL को Redirect जरूर करें ताकि Google में 404 Error नही आए।

Conclusion:

दोस्तों यह  थे वो Points जिन्हें आपको अपनी Post पब्लिश करने से पहले जरूर चेक करना है अगर आप इन टिप्स को फॉलो करेंगे तो आपकी Post  ना केवल आपके Readers को पसंद आएगी बल्कि सर्च इंजन में भी उसका फायदा मिलेगा और आपकी Post जल्दी Index होने के साथ Top पर भी आ सकती है।
मुझे उम्मीद है यह Post आपके काम आने वाली है। आपको यह Post पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करें और Comment में जरूर बताएं कि आपको  यह Post कैसी लगी?

Tags – Blogging, post, SEO, Tips, How to Write Post in Blogger, How to Write Post in wordpress, Blog post Writing Tips, How to write SEO Friendly Blog Post, How to write SEO Friendly Blog Post, How to write SEO Friendly Post in Hindi, Hindi me SEO Friendly Post kaise likhen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *