HinduAlerting

Holi Calender 2021 – होली की सही तारीख़ और होलिका दहन, होली, लठ्ठमार होली, वृंदावन और मथुरा में होली के उत्सव को जानें

सोशल मीडिया में शेयर करें

Holi 2020 – होली 2020

Holi भारत के प्रमुख त्योहारों में से एक है और हर साल अलग-अलग तारीखों में मनाया जाता है। यह महान भारतीय त्योहार मार्च के महीने में पूर्णिमा के बाद सर्दियों के अंत में मनाया जाता है। Holi से एक दिन पहले एक बड़ा अलाव जलाया जाता है जो बुरी आत्माओं को जलाने में मदद करता है और उस पूरी प्रक्रिया को Holika Dahan (होलिका दहन) कहा जाता है।

holi calendar 2020
holi calendar 2020

Holi सेलिब्रेशन डेट 2020 :

Holi: 10 मार्च 2020

Holika Dahan (होलिका दहन):

09 मार्च 2020

Holi सेलिब्रेशन की तारीख – 2021

Holi: 29 मार्च 2021

Holika Dahan: 28 मार्च 2021

Holi Dates की विस्तृत जानकारी –

समय: सूर्यास्त से पहले Holika Dahan के लिए अलाव जलाना शास्त्रों में मना किया गया है। क्योंकि शास्त्रों की मान्यता के अनुसार सूर्यास्त से पहले Holika Dahan जीवन में दुर्भाग्य लाने का कारण हो सकता है। Holika Dahan सूर्यास्त के बाद पूर्णिमा तिथि पर एक विशेष समय पर किया जाना चाहिए। होलिका दहन का अनुष्ठान करने के लिए एक अच्छा मुहूर्त चुनना बहुत महत्वपूर्ण है। आदर्श रूप से यह प्रदोष काल पर किया जाना चाहिए जब रात और दिन एक दूसरे के समान हो।

भद्रा तिथि तक होलिका दहन की रस्म निभाना निषिद्ध है। भारत में सभी राज्यों में Holika Dahan का समय के लिए सटीक समय अलग अलग होता है, क्योंकि यह ग्रहों के चाल और सूर्य के अस्त होने और चाँद के उदय होने पर निर्भर करता है।

Read More :   Sarva Pitru Amavasya 2020 Date : Information of Sarva Pitru Amavasya 2020, Significance Sarva Pitru Amavasya

2020 की Holika Dahan के लिए Perfect Time:

Holika Dahan Time in Mumbai  – 18:47 से 21:11 तक
Holika Dahan Time in Delhi – 18:26 to 20:52

Holika dahan के दिन, एक विशेष प्रकार की पूजा की जाती है ताकि बच्चों और परिवार के अन्य सदस्यों का स्वास्थ्य सही रहे और सभी प्रकार की बुराइयों को दूर रखा जा सके।

Read More :   Holi Festival - होली का त्यौहार, होली एक पवित्र हिंदू त्यौहार

Holika dahan का उत्सव Holika के स्मरण में किया जाता है। अपने दानव भाई की इच्छा को पूरा करने के प्रयास में Holika ने अग्नि में बैठकर प्रह्लाद को जलाने की कोशिश की क्योंकि वह भगवान विष्णु की पूजा करते थे और उसके भाई की नहीं। चूँकि उसके पास अग्नि से प्रभावित न होने का आशीर्वाद था इसलिए वह प्रहलाद के साथ अग्नि में बैठ गई। लेकिन, प्रहलाद की महान भक्ति के कारण, वह बच गया और होलिका जलकर मर गई।

Holi के दिन लोग एक-दूसरे पर रंगों की बौछार करके आनंद लेते हैं और वे liquid colors (तरल रंगों) से खेलते हैं। रंगों के साथ खेलने का यह हिस्सा दोपहर के अंत तक चलता है और शाम से लोग स्वादिष्ट भोजन तैयार करना शुरू कर देते हैं।

देश के विभिन्न हिस्सों में अलग-अलग तरह से और अलग-अलग नामों से Holi मनाई जाती है।

Vrindavan and Mathura Holi – वृंदावन और मथुरा में होली का उत्सव

Vrindavan में Holi उत्सव एक सप्ताह तक चलने वाला उत्सव है और इसकी शुरुआत Phoolon wali Holi के साथ होती है जो Aanola Ekadasi (अरनोला एकादशी) के दौरान Vrindavan (वृंदावन) में बांके बिहारी मंदिर में सुबह 4 बजे फूलों की बौछार से शुरू होती है। Vrindavan में Holi का सप्ताह भर चलने वाला उत्सव 4 मार्च 2020 से शुरू होगा। यह उत्सव 10 मार्च 2020 को पूरा होगा जो holi मनाने से एक दिन पहले होता है जब लोग एक दूसरे पर रंग फेंकते हैं। मथुरा में दोपहर के दौरान उत्सव लगभग 3 बजे शुरू होता है।

Read More :   रक्षा बंधन 2020 की तारीख और मुहूर्त, Raksha Bandhan 2020 Date & Muhurat

Lathmar Holi (लठ्ठमार होली) –

Nandgaon (नंदगाँव) और Barsana (बरसाना) गाँव में महिलाओं द्वारा पुरुषों को पीटने की परंपरा है जो होली उत्सव से एक सप्ताह पहले निभाई जाती है।

Lathmar Holi in 2020 – 2020 में लठमार होली की Date :

Barsana Lathmar Holi Date – 4 मार्च

Nandgaon Lathmar Holi Date – 5 मार्च
कैलेंडर में Holi 2020 की Date देखें और Holi 2020 की तैयारी शुरू करें !

Holi 2020 Date – 10 March, 2020 (Tuesday)

Holi Calendar 2020 – March 2020

Holi Calendar 2020 - March 2020
Holi Calendar 2020 – March 2020


सोशल मीडिया में शेयर करें

Leave a Reply