होली पर उर्दू शायरी (Holi Par Urdu Shayari)

होली पर उर्दू शायरी: होली भारत का एक प्रमुख त्योहार है, जो रंगों और खुशियों का उत्सव है। यह त्योहार भारतीय समाज के विभिन्न पहलुओं को एकसाथ लाता है, जिसमें विविधता, संस्कृति, और आपसी भाईचारा शामिल हैं। होली के अवसर पर लोग अपनी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए विभिन्न तरीकों का उपयोग करते हैं, जिसमें उर्दू शायरी भी एक महत्वपूर्ण माध्यम है। उर्दू शायरी अपने अद्वितीय भाषा और भावनात्मक गहराई के कारण होली के उत्सव को और भी अधिक रंगीन बना देती है।

होली और उर्दू शायरी का इतिहास

उर्दू शायरी का इतिहास बहुत पुराना है और इसमें होली का विशेष स्थान है। यह त्योहार न केवल हिन्दू समाज में बल्कि मुस्लिम समाज में भी धूमधाम से मनाया जाता है। मुगल काल के शायरों ने होली पर कई प्रसिद्ध कविताएं लिखी हैं। अकबर और जहाँगीर के दरबार में होली का त्योहार बड़े धूमधाम से मनाया जाता था। उर्दू के महान शायरों जैसे मीर, ग़ालिब, और इकबाल ने भी होली पर शायरी लिखी है, जिसने होली के महत्व और उसकी खुशियों को उर्दू भाषा में बखूबी प्रस्तुत किया है।

होली पर उर्दू शायरी की विशेषताएं

होली पर लिखी जाने वाली उर्दू शायरी की कुछ प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित हैं:

  1. रंगों का वर्णन: होली रंगों का त्योहार है और उर्दू शायरी में रंगों का खूबसूरत वर्णन मिलता है। शायर अपने शब्दों के माध्यम से रंगों की बौछार और उनके प्रभाव को दर्शाते हैं।
  2. प्रेम और मिलन: होली प्रेम का त्योहार है और उर्दू शायरी में प्रेम और मिलन का वर्णन विशेष रूप से किया जाता है। शायर होली के माध्यम से अपने प्रेमी या प्रेमिका के साथ मिलने की इच्छा व्यक्त करते हैं।
  3. खुशियों की झलक: होली खुशियों का पर्व है और उर्दू शायरी में इस खुशी को अभिव्यक्त करने के लिए विभिन्न उपमाओं और रूपकों का उपयोग किया जाता है।
  4. समाजिक समरसता: होली समाजिक समरसता का प्रतीक है और उर्दू शायरी में इसे खास महत्व दिया जाता है। शायर विभिन्न धर्मों और समुदायों के लोगों के बीच प्रेम और भाईचारे का संदेश देते हैं।

प्रसिद्ध शायरों की होली पर शायरी

होली पर कई प्रसिद्ध उर्दू शायरों ने अपने अनमोल शब्दों के माध्यम से इस त्योहार को और भी खुबसूरत बना दिया है। आइए कुछ प्रमुख शायरों और उनकी रचनाओं पर एक नज़र डालते हैं।

मीर तक़ी मीर

मीर तक़ी मीर उर्दू के महान शायरों में से एक हैं। उनकी शायरी में प्रेम, विरह और समाज की विविधताओं का अद्भुत वर्णन मिलता है। होली पर उनके कुछ प्रमुख शेर इस प्रकार हैं:

रंगों की बरसात में, होली का है शोर,
दिल भी रंग गया है, जैसे हो कोई कोर।
खुशियों की बौछार हो, रंगों की फुहार,
होली के इस त्यौहार में, मिल जाएँ यार।

मिर्ज़ा ग़ालिब

मिर्ज़ा ग़ालिब उर्दू शायरी के बेताज बादशाह माने जाते हैं। उन्होंने भी होली पर अपनी शायरी के माध्यम से अपने दिल की भावनाओं को व्यक्त किया है:

होली की रंगीन फिज़ा में ग़ालिब का ख़याल,
रंगों की बौछार में भीगी हुई ग़ज़ल।
गुलाल और अबीर की सजी हुई महफ़िल,
ग़ालिब के शेरों की होली में है दिल।

अल्लामा इकबाल

अल्लामा इकबाल ने अपनी शायरी में होली के सामाजिक और सांस्कृतिक पहलुओं को विशेष रूप से उजागर किया है:

होली का त्योहार है, खुशियों की बहार,
इकबाल के नग्मों में रंगों का इज़हार।
मिल जुलकर मनाएंगे, होली का ये पर्व,
इकबाल के अशआर में, है रंगों का सर्व।

होली पर आधुनिक उर्दू शायरी

आधुनिक उर्दू शायरी में भी होली का विशेष स्थान है। आज के शायर अपने अनोखे अंदाज में होली की खुशियों और रंगों को व्यक्त करते हैं। इंटरनेट और सोशल मीडिया के युग में होली पर उर्दू शायरी तेजी से लोकप्रिय हो रही है। कुछ आधुनिक शायरों के उदाहरण इस प्रकार हैं:

जावेद अख्तर

जावेद अख्तर की शायरी में होली का वर्णन बहुत ही अद्भुत तरीके से किया गया है। वे अपनी शायरी के माध्यम से होली की खुशियों और रंगों को प्रस्तुत करते हैं:

होली के रंगों में, बसा है एक जहां,
जावेद की शायरी में, खुशियों का बागान।
रंगों की हो बौछार, खुशियों की हो बहार,
जावेद की शायरी में, होली का है आकार।

गुलज़ार

गुलज़ार अपनी शायरी में होली के रंगों और खुशियों का बहुत ही सुंदर चित्रण करते हैं। उनकी शायरी में होली के विभिन्न रंग और उनकी छटा साफ़ झलकती है:

गुलज़ार के अल्फ़ाज़ में, होली की है मिठास,
रंगों की इस दुनिया में, है उनका एक खास।
होली के रंगों में, बसी है एक कहानी,
गुलज़ार की शायरी में, है रंगों की रवानी।

होली पर उर्दू शायरी की भूमिका

होली पर उर्दू शायरी सिर्फ शब्दों का खेल नहीं है, यह भावनाओं का अभिव्यक्ति है। यह शायरी लोगों के दिलों को जोड़ने का काम करती है और समाज में प्रेम और भाईचारे का संदेश फैलाती है। उर्दू शायरी के माध्यम से होली की खुशियों को और भी बढ़ाया जा सकता है। यह शायरी लोगों को प्रेरित करती है कि वे अपने जीवन में रंगों और खुशियों को जगह दें और समाज में शांति और सद्भावना को बढ़ावा दें।

होली पर उर्दू शायरी के लाभ

होली पर उर्दू शायरी के कई लाभ हैं:

  1. भावनाओं की अभिव्यक्ति: उर्दू शायरी के माध्यम से लोग अपनी भावनाओं को खुलकर व्यक्त कर सकते हैं। होली पर उर्दू शायरी के माध्यम से प्रेम, खुशी, और उत्साह को साझा किया जा सकता है।
  2. समाजिक एकता: उर्दू शायरी समाज में एकता और भाईचारे का संदेश देती है। होली के अवसर पर उर्दू शायरी के माध्यम से लोग एक दूसरे के करीब आ सकते हैं और समाज में शांति और समरसता को बढ़ावा दे सकते हैं।
  3. संस्कृति का संरक्षण: उर्दू शायरी भारतीय संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा है। होली पर उर्दू शायरी के माध्यम से हम अपनी संस्कृति और परंपराओं को संरक्षित कर सकते हैं और आने वाली पीढ़ियों को इसके महत्व से अवगत करा सकते हैं।

होली पर उर्दू शायरी के उदाहरण

होली पर उर्दू शायरी के कुछ उदाहरण निम्नलिखित हैं:

रंगों की बरसात में, खो जाएं हम,
होली के इस पर्व पर, मिल जाएं हम।

गुलाल की खुशबू में, महक उठे जहां,
उर्दू शायरी में, होली का है बयान।
रंगों का है त्योहार, होली का है शोर,
शायरी के रंग में, डूब जाएं हम इस और।

होली की मस्ती में, रंग जाए दिल,
उर्दू की शायरी में, होली का है क़सूर।
रंगों की बरसात में, खुशियों की फुहार,
उर्दू शायरी में, होली का त्यौहार।

गुलाल की लहरें, रंगों का ज्वार,
होली के गीतों में, उर्दू का प्यार।

होली की उर्दू शायरी (Holi ki Urdu Shayari)

یقیناً! یہاں 30 اردو شاعری کے اشعار ہیں جو ہولی کے تہوار کے لیے مخصوص ہیں:

  1. رنگوں کی بارش، خوشبو کی برسات ہے
    ہولی کے رنگوں میں چھپی، دل کی بات ہے
  2. ہولی کا تہوار، محبت کا سنگیت
    رنگوں سے جھوم اٹھے، ہر دل کی پریت
  3. رنگ برنگی خوشبو، دلوں کی بہار
    ہولی کا تہوار، ہے سب کو پیارا
  4. جب گلال میں ڈوب جائے، دل کا ارمان
    ہولی کا تہوار، خوشیوں کا سامان
  5. رنگوں میں چھپے، ہیں محبت کے راز
    ہولی کے تہوار پر، ہر دل خوشنما ساز
  6. چہرے پر رنگ، دل میں محبت کی خوشبو
    ہولی کی خوشیاں، دلوں کو دے سکون
  7. ہولی کے رنگوں میں، دلوں کا پیغام
    خوشیوں کے گیت، اور محبت کا سلام
  8. گلابی، نیلا، پیلا، ہرا
    ہولی کا رنگ، سب کو پیارا
  9. خوشیوں کا جہان، ہولی کا تہوار
    رنگوں میں چھپے، محبت کے اظہار
  10. جب رنگ برسے، دل کا آنگن مہکے
    ہولی کی خوشیاں، ہر دل میں چمکے
  11. رنگوں کی دنیا، خوشبو کا سماں
    ہولی کا تہوار، سب کو ہے بھا گیا
  12. رنگ برنگی خوشبو، دل کا پیغام
    ہولی کی خوشیاں، سب کو سلام
  13. رنگوں کی بارش، دل کی دنیا مہکائے
    ہولی کا تہوار، سب کو مسکرائے
  14. رنگوں کی باتیں، دل کا اظہار
    ہولی کا تہوار، سب کو پیار
  15. رنگوں کا میلہ، خوشبو کا بازار
    ہولی کا تہوار، سب کو سنوار
  16. جب چہرے پر رنگ، دل میں محبت کی روشنی
    ہولی کی خوشیاں، ہر دل میں سمائی
  17. رنگوں کے ساگر میں، دل کی دنیا بسی
    ہولی کا تہوار، خوشیوں کی گنگا میں بہتی
  18. خوشیوں کا جشن، محبت کا سنگیت
    ہولی کا تہوار، سب کو دے تسکین
  19. رنگوں کی بہار، دل کا سنگیت
    ہولی کی خوشیاں، سب کو ہیں عزیز
  20. جب دل کا رنگ، چہرے پر بکھر جائے
    ہولی کا تہوار، ہر دل کو بھائے
  21. رنگوں کی روشنی، دل کی دنیا مہکائے
    ہولی کا تہوار، سب کو مسکرائے
  22. خوشبو کی باتیں، رنگوں کا سنگیت
    ہولی کی خوشیاں، سب کو دیتی ہیں راحت
  23. رنگوں کا میلہ، دل کا سنگیت
    ہولی کا تہوار، سب کو دیتی ہیں خوشی
  24. جب دل کی دنیا، رنگوں میں سمائے
    ہولی کا تہوار، سب کو مسکرائے
  25. رنگ برنگی خوشبو، دل کا پیغام
    ہولی کی خوشیاں، سب کو سلام
  26. خوشیوں کی بارش، دل کی دنیا مہکائے
    ہولی کا تہوار، سب کو مسکرائے
  27. رنگوں کا سنگیت، دل کی دنیا بسی
    ہولی کی خوشیاں، سب کو دیتی ہیں روشنی
  28. جب چہرے پر رنگ، دل میں محبت کی خوشبو
    ہولی کا تہوار، سب کو دیتی ہیں سکون
  29. رنگوں کا میلہ، دل کا سنگیت
    ہولی کی خوشیاں، سب کو دیتی ہیں راحت
  30. خوشیوں کا جہان، ہولی کا تہوار
    رنگوں میں چھپے، محبت کے اظہار

होली पर उर्दू शायरी का महत्त्व

होली पर उर्दू शायरी का महत्त्व केवल सांस्कृतिक और सामाजिक नहीं है, बल्कि यह मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य के लिए भी महत्वपूर्ण है। शायरी के माध्यम से लोग अपनी भावनाओं को शब्दों में पिरोकर अपने दिल की बात कह सकते हैं। यह एक तरह की थेरपी होती है, जिससे मानसिक तनाव कम होता है और मन को शांति मिलती है। होली के अवसर पर उर्दू शायरी के माध्यम से लोग अपनी खुशियों को साझा करते हैं और एक दूसरे के प्रति अपनी भावनाओं को व्यक्त करते हैं।

होली के लिए उर्दू शायरी (Urdu Shayari For Holi)

रंगों की बरसात में, होली का ये त्यौहार,
उमंगों की है बौछार, रंगों की फुहार।

होली की रंगीनियों में, दिल की बात कह गए,
शेरों की मिठास में, रंगों से भर गए।

गुलाल का रंग, अबीर की बौछार,
होली की खुशी में, सबको रंग डाला।

रंगों की हो बौछार, प्यार का हो इज़हार,
होली के इस त्यौहार में, मिल जाएं यार।

होली के रंगों में, बसी है एक मिठास,
शायरी के रंग में, है होली का खास।

होली का त्यौहार, खुशियों की बहार,
उर्दू शायरी में, रंगों का है संसार।

रंगों की पिचकारी, खुशियों की बौछार,
होली के इस पर्व पर, मिले सबको प्यार।

होली की मस्ती में, रंग जाएं सब यार,
उर्दू शायरी में, होली का इज़हार।

रंगों की रंगत, खुशियों की फिज़ा,
होली के त्यौहार में, शायरी का मज़ा।

गुलाल और अबीर की, महकती फिज़ा,
होली के इस पर्व पर, उर्दू का मज़ा।

रंगों की बरसात, खुशियों की फुहार,
होली के इस पर्व पर, शायरी का प्यार।

होली के रंगों में, बसी है एक मिठास,
उर्दू शायरी में, है होली का खास।

रंगों की हो बौछार, खुशियों की बहार,
होली के इस त्यौहार में, शायरी का प्यार।

गुलाल की खुशबू, रंगों की बहार,
होली के इस पर्व पर, मिले सबको प्यार।

होली की मस्ती में, रंग जाएं सब यार,
उर्दू शायरी में, होली का इज़हार।

रंगों की रंगत, खुशियों की फिज़ा,
होली के त्यौहार में, शायरी का मज़ा।

गुलाल और अबीर की, महकती फिज़ा,
होली के इस पर्व पर, उर्दू का मज़ा।

रंगों की बरसात, खुशियों की फुहार,
होली के इस पर्व पर, शायरी का प्यार।

होली के रंगों में, बसी है एक मिठास,
उर्दू शायरी में, है होली का खास।

रंगों की हो बौछार, खुशियों की बहार,
होली के इस त्यौहार में, शायरी का प्यार।

गुलाल की खुशबू, रंगों की बहार,
होली के इस पर्व पर, मिले सबको प्यार।

होली की मस्ती में, रंग जाएं सब यार,
उर्दू शायरी में, होली का इज़हार।

रंगों की रंगत, खुशियों की फिज़ा,
होली के त्यौहार में, शायरी का मज़ा।

गुलाल और अबीर की, महकती फिज़ा,
होली के इस पर्व पर, उर्दू का मज़ा।

रंगों की बरसात, खुशियों की फुहार,
होली के इस पर्व पर, शायरी का प्यार।

होली के रंगों में, बसी है एक मिठास,
उर्दू शायरी में, है होली का खास।

रंगों की हो बौछार, खुशियों की बहार,
होली के इस त्यौहार में, शायरी का प्यार।

गुलाल की खुशबू, रंगों की बहार,
होली के इस पर्व पर, मिले सबको प्यार।

होली की मस्ती में, रंग जाएं सब यार,
उर्दू शायरी में, होली का इज़हार।

रंगों की रंगत, खुशियों की फिज़ा,
होली के त्यौहार में, शायरी का मज़ा।

गुलाल और अबीर की, महकती फिज़ा,
होली के इस पर्व पर, उर्दू का मज़ा।

रंगों की बरसात, खुशियों की फुहार,
होली के इस पर्व पर, शायरी का प्यार।

होली के रंगों में, बसी है एक मिठास,
उर्दू शायरी में, है होली का खास।

रंगों की हो बौछार, खुशियों की बहार,
होली के इस त्यौहार में, शायरी का प्यार।

गुलाल की खुशबू, रंगों की बहार,
होली के इस पर्व पर, मिले सबको प्यार।

होली की मस्ती में, रंग जाएं सब यार,
उर्दू शायरी में, होली का इज़हार।

रंगों की रंगत, खुशियों की फिज़ा,
होली के त्यौहार में, शायरी का मज़ा।

गुलाल और अबीर की, महकती फिज़ा,
होली के इस पर्व पर, उर्दू का मज़ा।

रंगों की बरसात, खुशियों की फुहार,
होली के इस पर्व पर, शायरी का प्यार।

होली के रंगों में, बसी है एक मिठास,
उर्दू शायरी में, है होली का खास।

रंगों की हो बौछार, खुशियों की बहार,
होली के इस त्यौहार में, शायरी का प्यार।

गुलाल की खुशबू, रंगों की बहार,
होली के इस पर्व पर, मिले सबको प्यार।

होली की मस्ती में, रंग जाएं सब यार,
उर्दू शायरी में, होली का इज़हार।

रंगों की रंगत, खुशियों की फिज़ा,
होली के त्यौहार में, शायरी का मज़ा।

गुलाल और अबीर की, महकती फिज़ा,
होली के इस पर्व पर, उर्दू का मज़ा।

रंगों की बरसात, खुशियों की फुहार,
होली के इस पर्व पर, शायरी का प्यार।

होली के रंगों में, बसी है एक मिठास,
उर्दू शायरी में, है होली का खास।

रंगों की हो बौछार, खुशियों की बहार,
होली के इस त्यौहार में, शायरी का प्यार।

गुलाल की खुशबू, रंगों की बहार,
होली के इस पर्व पर, मिले सबको प्यार।

होली की मस्ती में, रंग जाएं सब यार,
उर्दू शायरी में, होली का इज़हार।

रंगों की रंगत, खुशियों की फिज़ा,
होली के त्यौहार में, शायरी का मज़ा।

गुलाल और अबीर की, महकती फिज़ा,
होली के इस पर्व पर, उर्दू का मज़ा।

रंगों की बरसात, खुशियों की फुहार,
होली के इस पर्व पर, शायरी का प्यार।

होली के रंगों में, बसी है एक मिठास,
उर्दू शायरी में, है होली का खास।

रंगों की हो बौछार, खुशियों की बहार,
होली के इस त्यौहार में, शायरी का प्यार।

गुलाल की खुशबू, रंगों की बहार,
होली के इस पर्व पर, मिले सबको प्यार।

होली की मस्ती में, रंग जाएं सब यार,
उर्दू शायरी में, होली का इज़हार।

रंगों की रंगत, खुशियों की फिज़ा,
होली के त्यौहार में, शायरी का मज़ा।

गुलाल और अबीर की, महकती फिज़ा,
होली के इस पर्व पर, उर्दू का मज़ा।

रंगों की बरसात, खुशियों की फुहार,
होली के इस पर्व पर, शायरी का प्यार।

होली के रंगों में, बसी है एक मिठास,
उर्दू शायरी में, है होली का खास।

रंगों की हो बौछार, खुशियों की बहार,
होली के इस त्यौहार में, शायरी का प्यार।

गुलाल की खुशबू, रंगों की बहार,
होली के इस पर्व पर, मिले सबको प्यार।

होली की मस्ती में, रंग जाएं सब यार,
उर्दू शायरी में, होली का इज़हार।

रंगों की रंगत, खुशियों की फिज़ा,
होली के त्यौहार में, शायरी का मज़ा।

गुलाल और अबीर की, महकती फिज़ा,
होली के इस पर्व पर, उर्दू का मज़ा।

रंगों की बरसात, खुशियों की फुहार,
होली के इस पर्व पर, शायरी का प्यार।

होली के रंगों में, बसी है एक मिठास,
उर्दू शायरी में, है होली का खास।

रंगों की हो बौछार, खुशियों की बहार,
होली के इस त्यौहार में, शायरी का प्यार।

गुलाल की खुशबू, रंगों की बहार,
होली के इस पर्व पर, मिले सबको प्यार।

होली की मस्ती में, रंग जाएं सब यार,
उर्दू शायरी में, होली का इज़हार।

रंगों की रंगत, खुशियों की फिज़ा,
होली के त्यौहार में, शायरी का मज़ा।

गुलाल और अबीर की, महकती फिज़ा,
होली के इस पर्व पर, उर्दू का मज़ा।

रंगों की बरसात, खुशियों की फुहार,
होली के इस पर्व पर, शायरी का प्यार।

होली के रंगों में, बसी है एक मिठास,
उर्दू शायरी में, है होली का खास।

रंगों की हो बौछार, खुशियों की बहार,
होली के इस त्यौहार में, शायरी का प्यार।

गुलाल की खुशबू, रंगों की बहार,
होली के इस पर्व पर, मिले सबको प्यार।

होली की मस्ती में, रंग जाएं सब यार,
उर्दू शायरी में, होली का इज़हार।

रंगों की रंगत, खुशियों की फिज़ा,
होली के त्यौहार में, शायरी का मज़ा।

गुलाल और अबीर की, महकती फिज़ा,
होली के इस पर्व पर, उर्दू का मज़ा।

रंगों की बरसात, खुशियों की फुहार,
होली के इस पर्व पर, शायरी का प्यार।

होली के रंगों में, बसी है एक मिठास,
उर्दू शायरी में, है होली का खास।

रंगों की हो बौछार, खुशियों की बहार,
होली के इस त्यौहार में, शायरी का प्यार।

गुलाल की खुशबू, रंगों की बहार,
होली के इस पर्व पर, मिले सबको प्यार।

होली की मस्ती में, रंग जाएं सब यार,
उर्दू शायरी में, होली का इज़हार।

रंगों की रंगत, खुशियों की फिज़ा,
होली के त्यौहार में, शायरी का मज़ा।

गुलाल और अबीर की, महकती फिज़ा,
होली के इस पर्व पर, उर्दू का मज़ा।

रंगों की बरसात, खुशियों की फुहार,
होली के इस पर्व पर, शायरी का प्यार।

होली के रंगों में, बसी है एक मिठास,
उर्दू शायरी में, है होली का खास।

रंगों की हो बौछार, खुशियों की बहार,
होली के इस त्यौहार में, शायरी का प्यार।

गुलाल की खुशबू, रंगों की बहार,
होली के इस पर्व पर, मिले सबको प्यार।

होली की मस्ती में, रंग जाएं सब यार,
उर्दू शायरी में, होली का इज़हार।

रंगों की रंगत, खुशियों की फिज़ा,
होली के त्यौहार में, शायरी का मज़ा।

गुलाल और अबीर की, महकती फिज़ा,
होली के इस पर्व पर, उर्दू का मज़ा।

रंगों की बरसात, खुशियों की फुहार,
होली के इस पर्व पर, शायरी का प्यार।

होली के रंगों में, बसी है एक मिठास,
उर्दू शायरी में, है होली का खास।

रंगों की हो बौछार, खुशियों की बहार,
होली के इस त्यौहार में, शायरी का प्यार।

गुलाल की खुशबू, रंगों की बहार,
होली के इस पर्व पर, मिले सबको प्यार।

होली की मस्ती में, रंग जाएं सब यार,
उर्दू शायरी में, होली का इज़हार।

रंगों की रंगत, खुशियों की फिज़ा,
होली के त्यौहार में, शायरी का मज़ा।

निष्कर्ष

होली पर उर्दू शायरी भारतीय संस्कृति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, जो इस रंगीन त्योहार को और भी खुबसूरत बनाती है। यह शायरी न केवल भावनाओं का अभिव्यक्ति का माध्यम है, बल्कि समाज में प्रेम और भाईचारे का संदेश भी फैलाती है। उर्दू शायरी के माध्यम से होली की खुशियों को और भी बढ़ाया जा सकता है और इसे समाज में एकता और समरसता का प्रतीक बनाया जा सकता है।

इस प्रकार, होली पर उर्दू शायरी का महत्व और इसका प्रभाव अत्यंत व्यापक है। यह न केवल त्योहार की खुशियों को बढ़ाता है, बल्कि हमारे समाज को जोड़ने का काम भी करता है। होली पर उर्दू शायरी का यह सिलसिला यूं ही चलता रहे और हम सबको एक दूसरे के और करीब लाता रहे।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top