खेचर का विलोम शब्द | Khechar Ka Vilom Shabd

खेचर का विलोम शब्द “भूमिचर” होता है।

खेचर का अर्थ है “आकाश में उड़ने वाला, आकाशचारी”। यह शब्द उन प्राणियों के लिए उपयोग होता है जो आकाश में उड़ सकते हैं, जैसे कि पक्षी, चमगादड़, और कीड़े। जबकि भूमिचर का अर्थ है “जमीन पर चलने वाला, स्थलचर”। यह शब्द उन प्राणियों के लिए उपयोग होता है जो जमीन पर चलते हैं, जैसे कि मनुष्य, जानवर, और सरीसृप।

खेचर शब्द के विलोम शब्द को नीचे दिए गए वाक्य प्रयोग से समझने की कोशिश करिए:

  • खेचर पक्षी पेड़ों की डालियों पर बैठे थे।
  • भूमिचर जानवर जंगल में घूम रहे थे।
  • खेचर कीट हवा में उड़ रहे थे।
  • भूमिचर सरीसृप धूप में बैठे थे।
  • खेचर देवता आकाश में विमान चला रहे थे।
  • भूमिचर मनुष्य धरती पर रहते हैं।

उदाहरण:

  • वाक्य:खेचर गरुड़ भगवान विष्णु का वाहन है।”
  • विलोम वाक्य:भूमिचर हाथी भगवान गणेश का वाहन है।”

स्पष्टीकरण:

  • पहले वाक्य में, “खेचर” शब्द का प्रयोग “गरुड़” के लिए किया गया है, क्योंकि गरुड़ एक पक्षी है और आकाश में उड़ सकता है।
  • दूसरे वाक्य में, “भूमिचर” शब्द का प्रयोग “हाथी” के लिए किया गया है, क्योंकि हाथी जमीन पर चलने वाला प्राणी है।

निष्कर्ष:

“खेचर” और “भूमिचर” विपरीत अर्थ वाले शब्द हैं जिनका उपयोग प्राणियों के गति करने के तरीके के सन्दर्भ में किया जाता है। “खेचर” का अर्थ है “आकाश में उड़ने वाला” और “भूमिचर” का अर्थ है “जमीन पर चलने वाला”।

Khechar Ka Vilom Shabd अक्सर परीक्षाओं में पूछा जाता है, इसलिए आपकी मदद से लिए यहाँ पर खेचर का विलोम शब्द हिंदी में दिया गया है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top