क्या छत्रपति शिवाजी महाराज राजपूत थे?

छत्रपति शिवाजी महाराज, जिन्हें भारतीय इतिहास में महान मराठा योद्धा के रूप में जाना जाता है, का जन्म 1630 में शिवनेरी किले, पुणे (महाराष्ट्र) में हुआ था। वे भोसले वंश के थे, जो मराठा समुदाय का हिस्सा था। आइए उनके राजपूत होने के संदर्भ में विस्तार से चर्चा करें।

शिवाजी महाराज का वंश और परिवार

  1. भोसले वंश: शिवाजी महाराज भोसले वंश से संबंधित थे, जो मराठा समुदाय का प्रमुख वंश था। भोसले वंश का उद्गम महाराष्ट्र के सतारा जिले में माना जाता है।
  2. मराठा समुदाय: मराठा एक महत्वपूर्ण जातीय समूह है, जो महाराष्ट्र और उसके आसपास के क्षेत्रों में पाया जाता है। यह समुदाय प्रमुखतः कृषक वर्ग से संबंधित है और मध्यकालीन भारत में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है।
  3. शिवाजी महाराज के माता-पिता: शिवाजी के पिता शाहजी भोंसले और माता जीजाबाई थीं। शाहजी एक सक्षम सेनापति थे, जिन्होंने आदिलशाही और निजामशाही जैसे प्रमुख मुस्लिम सल्तनतों के साथ काम किया था। जीजाबाई, जाधव वंश की थीं, जो मराठा सरदारों में से एक थे।

राजपूत और मराठा

  • राजपूत: राजपूत एक बड़ा जातीय समूह है, जो मुख्यतः राजस्थान और उत्तरी भारत में पाया जाता है। वे क्षत्रिय वर्ग से संबंधित हैं और भारतीय इतिहास में योद्धा के रूप में विख्यात हैं। राजपूतों की अलग-अलग जातियाँ और गोत्र होते हैं, जो उन्हें उनकी पहचान और सामाजिक स्थिति प्रदान करते हैं।
  • मराठा: मराठा समुदाय, जैसे पहले बताया गया, मुख्यतः महाराष्ट्र और उसके आसपास के क्षेत्रों में पाया जाता है। यह समूह भी योद्धाओं का है और इनकी अपनी विशेषताएँ और परंपराएँ हैं।

क्या शिवाजी महाराज राजपूत थे?

शिवाजी महाराज का राजपूत होना एक बहस का विषय रहा है, लेकिन ऐतिहासिक प्रमाण और अधिकांश इतिहासकार इस बात पर सहमत हैं कि:

  1. वंश और संस्कृति: शिवाजी महाराज का भोसले वंश मराठा समुदाय का हिस्सा था, न कि राजपूतों का। उनकी संस्कृति, परंपराएँ, और सामाजिक संरचना मराठाओं की थी।
  2. क्षत्रिय वर्ग: हालांकि मराठा समुदाय भी योद्धाओं का है और क्षत्रिय वर्ग से संबंधित है, लेकिन इसे राजपूतों के साथ समानता नहीं माना जा सकता। दोनों समुदायों की अपनी-अपनी पहचान और इतिहास है।
  3. इतिहासकारों की राय: प्रसिद्ध इतिहासकार जैसे कि जी.एस. सरदेसाई, जदुनाथ सरकार, और अन्य ने शिवाजी महाराज को मराठा समुदाय का बताया है, जो अपने स्वतंत्र राज्य के संस्थापक और महान मराठा योद्धा थे।

निष्कर्ष

छत्रपति शिवाजी महाराज राजपूत नहीं थे, वे मराठा समुदाय के भोसले वंश से संबंधित थे। उनकी पहचान और उनका महान योगदान मराठा समुदाय और भारतीय इतिहास में अमूल्य है। वे एक महान योद्धा और सक्षम शासक थे, जिन्होंने मराठा साम्राज्य की नींव रखी और मुगल साम्राज्य के खिलाफ संघर्ष कर उसे मजबूती प्रदान की।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top