Hindi Meaning

Mood Swings in Periods Meaning in Hindi ॰ पीरियड्स में मूड स्विंग होना क्या है

सोशल मीडिया में शेयर करें

Mood Swings in Periods Meaning in Hindi : अगर आप महिलाओं के पीरियड्स के दौरान होने वाले मूड स्विंग के बारे में जानकारी चाहते हैं, तो इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ें। यहाँ पर Mood Swings in Periods Meaning in Hindi के बारे में पूरी जानकारी दी गई है। इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप समझ सकेंगे कि पीरियड्स के दौरान होने वाले मूड स्विंग के क्या लक्षण होते हैं, इसके कारण और उपचार की पूरी जानकारी यहाँ पर दी गई है।

Mood Swings in Periods Meaning in Hindi

Mood Swings in Periods का हिंदी अर्थ – ‘पीरियड्स में अचानक से मन बदलना या भावनाओं में परिवर्तन होना’ होता है।

Mood Swing ‘बाइपोलर डिसऑर्डर’ है। महिलाओं में पीरियड्स के दौरान जब भावनात्मक स्थिति में अचानक या तीव्र परिवर्तन होता है, ऐसी अवस्था को ही Mood Swings in Periods कहते हैं। यानी पीरियड्स के दौरान जब कोई महिला खुश और उत्साहित महसूस कर रही हो और अचानक उसकी भावना में बदलाव होने से वह उदास, चिड़चिड़ी या क्रोधित महसूस करने लगे तो इस अवस्था को ही मूड स्विंग कहते हैं।

Mood Swings in Periods Meaning in Hindi
Mood Swings in Periods Meaning in Hindi

Mood Swings in Periods को आप ऐसे समझिए कि अगर कोई महिला ख़ुश हैं या उत्साह में हैं और अचानक उसकी भावनाओं में परिवर्तन होने से वह दुःख या अवसाद में चली जाए, तो भावनाओं में अचानक हुए इसी बदलाव को मूड स्विंग कहते हैं। पीरियड्स के दौरान होने वाले मूड स्विंग को कई लोग औरतों के स्वभाव से भी जोड़कर देखते हैं। लेकिन यह स्वभाव नही बल्कि ‘बाइपोलर डिसऑर्डर’ है।

पीरियड्स में मूड स्विंग क्यों होता है ॰ Why mood swings occur during periods

पीरियड्स में मूड स्विंग्स हार्मोनल परिवर्तन के कारण होता है। प्री मेन्स्ट्रुअल सिंड्रोम (PMS) भावनात्मक और शारीरिक बदलाव की वह प्रक्रिया है, जो पीरियड्स से करीब 2 हफ्ते पहले शुरू हो जाती है। इसी की वजह से महिलाओं और लड़कियों के मूड पर असर पड़ता है। PMS के कारण चिड़चिड़ापन, किसी बात को लेकर अति संवेदनशील हो जाना, ज्यादा गुस्सा आना, कुछ भी अच्छा न लगना आदि जैसे लक्षण उभरने लगते हैं।

इन सभी लक्षणों यानी पीरियड्स में मूड स्विंग (Mood Swings in Periods) के लिए फीमेल हॉर्मोन एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रॉन जिम्मेदार होते हैं। हालांकि थोड़ा असर साइकॉलजिकल भी होता है। जैसे कि महिलाओं को पता होता है कि पीरिएड्स शुरू होने वाले हैं तो वो ज़्यादा सतर्क हो जाती हैं।

Read More :   Attitude Meaning in Hindi ॰ Attitude का हिंदी में अर्थ क्या होता है

मूड स्विंग कम करने के लिए करें सपोर्ट

माहवारी के दौरान महिलाओं में मूड स्विंग होना नैचुरल बात है, इसलिए परिवारवालों और महिला के पति को सपोर्ट करना चाहिए और सबको इस बात को समझना चाहिए कि ये एक सामान्य बात है। आइए जानते हैं कैसे महिला के पति और परिवार वाले सपोर्ट करें :

  1. अगर कोई महिला बेहतर महसूस नही कर रही, तो उन्हें स्पेस दें, ताकि वो कुछ पल अकेले रह सकें और अपने मनपसंद कुछ काम या मनोरंजन कर सकें।
  2. ऐसा वातावरण रखें की उन्हें कोई दिक्कत और टेन्शन ना हो।
  3. बिना मतलब का कोई दोष ना लगाएँ। और ना ही फ़ालतू की टीका-टिप्पणी करें।
  4. उन्हें बहुत सारा प्यार दें और उनकी केयर करें।

पीरियड्स में मूड स्विंग को कैसे कंट्रोल करें

अक्सर पीरियड्स के दौरान महिलाओं को मूड स्विंग होने की दिक्कत रहती है। महिलाएँ पीरियड्स के दिनों में अपनी डाइट और जीवनशैली में कुछ बदलाव करके कुछ हद तक मूड स्विंग को कंट्रोल कर सकती हैं। आइए जानते हैं कैसे –

#1. तनाव को नियंत्रित करना सीखें

मूड स्विंग होने का सबसे बड़ा कारण तनाव (Tension और Pressure) को माना जाता है। इसलिए यह बहुत ज़रूरी है कि पीरियड्स के दिनों में होने वाले तनाव को कम करें और किसी भी बात की टेन्शन ना लें। फिर भी किसी वजह से टेन्शन हो, तो उसे ख़ुद ही कंट्रोल करने की कोशिश करें।

#2. पूरी नींद है लें

माहवारी के दौरान महिलाओं को रात में कम से कम 8 घंटे की नींद लेना बहुत ज़रूरी होता है, इससे उनका मन शांत रहता है। अगर नींद पूरी नही होगी तो इससे चिड़चिड़ापन की समस्या बढ़ती है। इसलिए पीरियड्स के समय अगर आप मूड स्विंग से बचना चाहती हैं, तो रात में पूरी नींद ज़रूर लें।

#3. अच्छा खाएं – सही डाइट लें

हालांकि माहवारी के दौरान मन अजीब रहता है और कुछ खाने का मन नहीं करता लेकिन इस समय खाने को छोड़ना हानिकारक हो सकता है। एक साथ नहीं खाने का मन है तो दिन में दो-तीन बार थोड़ा-थोड़ा खाएं। इससे आपके शरीर का ब्लड शुगर लेवल स्थिर होगा। खून में शर्करा की मात्रा में उतार-चढ़ाव से भी आपको चिड़चिड़ाहट हो सकती है इसिलए खाना न छोड़ें।

Read More :   Wish Meaning in Hindi ॰ Wish का मतलब हिंदी में जानिए

पीरियड्स के दिनों में मन अजीब रहता है और कुछ भी खाने का मन नही करता लेकिन इन दिनों में खाना छोड़ना स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक होता है। अगर आपका मन खाने को नही कर रहा है, तो आप दिन में 4-5 बार थोड़ा-थोड़ा खाना खाइए। इससे आपके शरीर में शुगर लेवल कंट्रोल में रहेगा। ब्लड के शुगर लेवल में उतार-चढ़ाव से भी चिड़चिड़ापन की समस्या आती है, इसलिए खाने पर ज़रूर ध्यान दें और सही डाइट लें।

#4. कैफीन का सेवन ना करें

कैफीन युक्त पेय पीने से शरीर में एड्रेनेलिन हॉर्मोन का स्राव होता है, जो सिम्पैथेटिक नर्वस सिस्टम को उत्तेजित करता है। साथ ही कैफीन एड्रेनल ग्रंथियों पर भी दबाव डालता है, जिससे चिंता और चिडचिड़ापन बढ़ जाता है। इसलिए पीरियड्स के दौरान कैफीन युक्त पेय पीने से बचें या फिर बिल्कुल बहुत कम लें। हमारी सलाह है कि माहवारी के 3-4 दिनों के दौरान कैफीन का सेवन बिल्कुल भी ना करें।

#5. एक्सरसाइज करें

माहवारी के दौरान योगा करना ज़्यादा अच्छा होता है क्योंकि इससे दिमाग शांत रहता है। इन दिनों में व्यायाम नहीं करना चाहिए लेकिन अगर महिलाएं व्यायाम को अपनी दिनचर्या में शामिल करें तो यह उनके दिमाग और शरीर दोनों के लिए अच्छा होता है। व्यायाम करने से शरीर में एंड्रोफिन रसायन का स्राव होता है, जो आपकी खुश रखता है।

#6. डॉक्टर की सलाह

डॉ. शैल्जा पांडेय ने बताया की – ‘पीरियड्स के दिनों में मूड स्विंग होना आम बात है। आजकल कम उम्र की लड़कियों में यह समस्या ज़्यादा देखने को मिल रही है लेकिन मूड स्विंग हर उम्र की महिलाओं में होता है। माहवारी के दिनों में दिनचर्या में बदलाव और तनाव की वजह से ऐसा होता है। इसका कोई ईलाज नही है, आज तक कोई दवाई नही बनी है। इसलिए महिलाओं को ख़ुद कोशिश करके इससे छुटकारा पाना चाहिए।’

Mood Swing Pronunciation in Hindi

Mood Swing को हिंदी में ‘मूड स्विंग इन पीरियड्स’ के रूप में पढ़ा या बोला जाता है। यानी Mood Swing का Hindi Pronunciation ‘मूड स्विंग इन पीरियड्स’ होता है।

Mood Swings in Periods Explanation in Hindi

‘Mood Swings in Periods’ को English में एक पूरे Sentence के रूप में पढ़ा जाता है और इसका अर्थ होता है – ‘पीरियड्स में अचानक से भावनाओं में बदलाव होना’। इस शब्द का इस्तेमाल मेडिकल फ़ील्ड में किया जाता है। यह 4 शब्दों से मिलकर बना है। Mood + Swings + in + Periods.

Read More :   Mood Swings During Pregnancy Meaning in Hindi ॰ प्रेग्नेंसी में मूड स्विंग होना

Mood का Hindi Meaning – ‘मनोदशा, मनःस्थिति, भाव-दशा, भावना, भाव, रंग’ होता है। Swings का Hindi Meaning – ‘स्विंग करना, लय, दोलन, झूला, बदलाव, अचानक से, डोलना, जोर ज़ोर से घूमना’ होता है। In की हिंदी मीनिंग – में, दौरान। Period मतलब – महिलाओं को आने वाली माहवारी या पीरियड।

इन चारों शब्दों की हिंदी अर्थ जोड़कर जान सकते हैं की Mood Swings in Periods Meaning in Hindi (हिंदी अर्थ) – ‘पीरियड्स में अचानक से भावनाओं में बदलाव होना’ होगा।

जानकारी

अक्सर यूज़र Meaning & Translation of Mood Swings in Periods in Hindi language खोजते हैं। जिसके बारे में हमने इस पोस्ट में पूरी जानकारी दी है। इसके अलावा जिन लोगों को What is Meaning of Mood Swings in Periods in Hindi, Mood Swings in Periods का हिंदी में मतलब, Mood Swings in Periods Ka Matalab Hindi Me Kya Hai, Mood Swings in Periods Meaning in Hindi के बारे में जानकारी नही है, वो इस पोस्ट को पढ़ कर पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

हमने इस पोस्ट में इन टॉपिक्स के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है:

  • Meaning of Mood Swings in Periods in Hindi
  • Translation of Mood Swings in Periods
  • Definition of the word Mood Swings in Periods in Hindi
  • Translate the word Mood Swings in Periods in Hindi
  • Translation of word Mood Swings in Periods in Hindi
  • Mood Swings in Periods का मतलब हिंदी में जानिए
  • Mood Swings in Periods ka Matalab Hindi me Janiye
  • Mood Swings in Periods in Hindi
  • पीरियड्स में मूड स्विंग होना क्या होता है

Conclusion (निष्कर्ष)

इस पोस्ट में आपने जाना की Mood Swings in Periods Meaning in Hindi क्या होता है। आशा करते हैं, की आपको हमारी पोस्ट Mood Swings in Periods का मतलब हिंदी में समझ आ गया होगा। आशा करते हैं कि यहाँ से आप Mood Swings in Periods Hindi Pronunciation और इसे कैसे उपयोग करते हैं के बारे में पूरी जानकारी पा चुकें होंगे।

English के कई और शब्दों के हिंदी मीनिंग जानने के लिए यहाँ क्लिक करें – Hindi Meaning.

अगर आप English सीखना चाहते हैं, तो हमारे Free English Course से सीख सकते हैं। English Learning का पूरा कोर्स फ्री में पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें – Hindi To English Learning Free Course.

इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया जैसे Facebook, Koo, Twitter, WhatsApp, Telegram इत्यादि में ज़रूर शेयर करें, ताकि आपके दोस्तों को भी English सीखने में आसानी हो सके।


सोशल मीडिया में शेयर करें

Leave a Reply