हम सबको पता है की झीलें, नदियाँ और झरने जैसे प्राकृतिक जल स्त्रोत पृथ्वी पर जीवन के लिए बहुत जरुरी हैं। अगर ये नही हो तो इस धरती पर जीवन की कल्पना भी नही की जा सकती है।धरती पर जीवन जल पर ही निर्भर है। अगर पानी नही हो, तो इस धरती से जीवन का और सम्पूर्ण जीव जगत का नामो-निशान मिट जाएगा।

लेकिन इन झीलों, नदियों और झरनों में कुछ इतने रहस्यमय और विचित्र हैं जिनके बारे में जानकर किसी के भी होश उड़ जाएँगे। तो आइए आज हम आपको देश और दुनिया की ऐसी ही रहस्यमय और विचित्र झीलों, नदियों और झरनों के बारे में बताते हैं –

mysterious world
mysterious world

1. दुनिया में एक ऐसी रहस्यमयी झील है जिसका पानी पीकर कोई ज़िंदा नही बचता। इस झील के रहस्य को आज तक कोई नही सुलझा पाया। इस झील का नाम फुन्दूजी झील (Fundudzi Lake) है। फुन्दूजी झील दक्षिण अफ्रीका के लिंपोपो प्रांत में है।

किवदंती के अनुसार इस काफ़ी समय पहले उस झील के पास एक कोढ़ी आया था। लेकिन स्थानीय लोगों ने उसे खाना और आश्रय नही दिया। इससे रूष्ट होकर वह कोढ़ी स्थानीय लोगों को श्राप देकर उस झील के अंदर चला गया और वही ग़ायब हो गया। जिसके बाद से फुन्दूजी झील का पानी विषैला है।

फुन्दूजी झील के आस पास रहने वाले आदिवासी बताते हैं की कभी कभी इस झील से ड्रम बजने की आवाज़ आती है। उनका ये भी कहना है कि इस झील की सुरक्षा एक अजगर करता है। इस अजगर को स्थानीय लोग पूजते हैं और इसके सम्मान के लिए हर साल वहाँ के आदिवासी एक उत्सव का आयोजन करते हैं। इस उत्सव में कुँवारी लड़कियाँ का नाच गाना होता है।

2. अमेरिका में 1930 में एक नदी की खोज हुई थी। यह नदी अमेरिका के नेवरास्का में है। इसके बारे में कहा जाता है की इस रहस्यमय नदी का पानी शहद से भी मीठा होता है। इसका जल शहद से भी मीठा क्यों रहता है? इस रहस्य को खोजने के लिए कई वैज्ञानिकों ने प्रयास किया और असफल रहे। आपको बता दें की नदी का आकार भी रहस्यमयी है यह दिनों दिन बढ़ रहा है।

3. बीयर जैसे स्वाद वाली नदी – दुनिया में एक ऐसा रहस्यमय नदी भी है जिसके पानी का स्वाद बीयर जैसा होता है। इस नदी का नाम एगारीन्यर्की है। एगारीन्यर्की नदी अफ्रीका में बहती है। रहस्यमय नदी के पानी का स्वाद भले ही बीयर जैसा होता है लेकिन इसकी जाँच करने पर इसमें अल्कोहल नही पाया गया। और इसके जल को पीने से नशा भी नही होता।

4. अर्जेंटीना और चिली के बीच एक नदी बहती है जिसका नाम है रायओप विनाग्रे। इस रहस्यमय नदी का पानी अगर आप पिएँगे तो लगेगा जैसे निम्बू का रस पी रहे हों। जी हैं, इस नदी का पानी बिलकुल निम्बू जैसा खट्टा होता है। स्थानीय लोग इसके पानी का इस्तेमाल शरबत बनाने में भी करते हैं।

5. खूनी नदी – स्पेन में एक नदी को खूनी नदी कहा जाता है। इस रहस्यमय नदी का नाम रिओरिरी है। आपको बता दें की इस रहस्यमय नदी में एक ऐसा खनिज पदार्थ मिलता है जो कि हवा के सम्पर्क में आकर लाल हो जाता है इसी वजह से इस नदी का पानी हमेशा लाल रहता है। आपको बता दें की इलाक़े में जितनी तेज़ हवा चलेगी नदी का पानी उतना ही ज़्यादा लाल हो जाता है।

6. नीले जल की नदी : ब्ल्यू डेन्यूब नाम की अल्जीरिया में एक नदी बहती है जिसका पानी हमेशा नीले रंग का होता है, बिलकुल किसी पेन की स्याही के समान नीला रंग। इसी तरह अल्जीरिया में भी एक नीले जल वाली नदी बहती है।

7. ऑस्ट्रिया में एक भूरी नदी है और एक पीली नदी भी बहती है। इसी तरह चीन में एक नदी का पानी पीला रहता है और मसाईलैंड की एक नदी का पानी काला रहता है।

8. आयरलैंड में एक झील हैं जो बीच बीच में ग़ायब हो जाती है इसका पानी बिलकुल सूख जाता है। फिर अचानक आ जाता है। इसका नाम लोधारीम है।

9. विश्व में इतनी गहरी झील भी है जिसमें जल जहाज़ चलाए जा सकते हैं। यह झील दक्षिण अमेरिका में है। इसका नाम टिटिकाका झील है। इसका क्षेत्रफल भी काफ़ी बड़ा 8.29 वर्ग किमी है।

10. केटॉर्न पर्वत जो की ऑस्ट्रिया में है। इसमें एक जलप्रपात है इसके ऊपर प्रतिदिन दोपहर में 3 बजे इन्द्रधनुष दिखाई देता है।

11. इटली में एक ऐसा झरना है जिसका पानी ठंडी के मौसम में गरम हो जाता है और गर्मी के मौसम में ठंडा। है ना अजीब, ये कैसे हो होता है? आज तक किसी को नही पता।

12. दुनिया में एक ऐसी झील भी है जिसका पानी हर 12 वर्ष के बाद मीठे और खारे में बदल जाता है। अगर अभी उसका पानी मीठा होगा तो 12 वर्ष बाद उसका पानी खारा मिलेगा। फिर 12 वर्ष बाद मीठा हो जाएगा। इसका नाम अरूत्सो झील है। अरूत्सो झील तिब्बत में है।

भारत की रहस्यमयी झील, नदियाँ और झरने:

1. रहस्यमय गंगा नदी – गंगा नदी को हिंदुओं की पवित्र नदी कहा जाता है। हिंदू धर्म को मानने वाले गंगा नदी की पूजा करते हैं और हिंदुओं का मानना है की गंदा नदी में स्नान करने से जीवन से सारे पाप धूल जाते हैं। लेकिन गंगा नदी की एक रहस्यमय बात भी है जो दुनिया के किसी और नदी, झील, झरने में नही है। गंगा नदी का पानी भरकर किसी भी बर्तन या डिब्बे में रख देने से यह कभी खराब नही होता। चाहे आप उसे ज़िंदगी भर ऐसे ही भर कर रखें और कभी हवा भी ना लगने दे।

2. भारत की कई ऐसी नदियाँ हैं जो उलटा दिशा में बहती है यानी दक्षिण से उत्तर की ओर। अब आप ख़ुद ही बताइए की ऐसा कैसे हो सकता है। क्योंकि उत्तर भारत की समुद्र तल से ऊँचाई दक्षिण भारत से बहुत ज़्यादा है। उलटी दिशा में बहने वाली नदियाँ नर्मदा, सोन, ताप्ती और पेरियार हैं।

3. भारत में एक सोने की नदी भी है। जी हाँ, आपने सही पढ़ा सोने की नदी। इस नदी के रेत में आपको मुफ़्त में सोना मिल जाएगा। यह सोने की नदी भारत के झारखंड राज्य में बहती है। इस नदी का नाम स्वर्णरेखा है। आपको बता दें की इस स्वर्णरेखा नदी में सोने का विशाल भंडार है जिसके बारे में आज तक कोई पता नही लगा पाया। शायद इसी सोने के भंडार से सोना कट कार नदी के रेत में मिलकर बहता रहता है।

4. जबलपुर में नर्मदा नदी का एक इलाक़ा बड़ी ही रहस्यमय घटनाओं से भरा पड़ा है। यह इलाक़ा राँझी (घाना) में है, Ordanance Factory के नज़दीक। इसके बारे में जबलपुर के स्थानीय लोग कहते हैं की इस नदी में रोज़ाना दोपहर के समय 7 मटके एक लोहे की ज़ंजीर से बधे हुए आते हैं और इस ज़ंजीर की आवाज़ भी आती है। ज़ंजीर की आवाज़ एक इशारा मानी जाती है की जो कोई भी इस समय नदी के जल में हो या उसके किनारे भी जल को छूआ हो वो तुरंत पानी से दूर चला जाए।

इस समय कोई पानी में रहा तो उसकी मौत पक्की है। मौतें भी अजीब तरह से होती है। ज़ंजीर सीधे उस इंसान या जानवर को अपने में लपेट कर कुछ दूर ले जाएगी और डूबा कर मार देगी। आपको बता दें की वो ऐसा इलाक़ा है जहाँ कोई इंसान बिना गहरे पानी में जाए डूब नही सकता। नदी का ज़्यादातर इलाक़ा छिछला हुआ है। और जितनी भी मौतें हुई हैं सब इसी छिछले और 3-4 फ़ुट के पानी में ही हुई हैं।

जितने भी मृत शरीर निकाले गए हैं सब में एक ही बात दिखी की उसका सिर नीचे पानी के अंदर गड़ा हुआ था। सोचने वाली बात ये भी है कि 3-4 फ़ुट के कम बहाव वाले पानी में कोई इंसान कैसे डूब सकता है? इसके बारे में कुछ कहानियाँ भी हैं लेकिन उसके बारे में मैं आप लोगों को तभी बताऊँगा जब आप नीचे comment में उसके बारे में पूछेंगे। क्योंकि इस इलाक़े में मैं भी जा चुका हूँ, स्थानीय लोग दोपहर में उस तरफ जाने से रोकते हैं लेकिन कोई ज़बरदस्ती नही करते बस आपको सावधान करते हैं। आगे आपकी मर्ज़ी क्योंकि अगर आप जाकर दोपहर के समय पानी में उतरे और उसी समय कोई अजीब आवाज़ आई और आपने ध्यान नही दिया तो आप ज़िंदा वापस नही आएँगे।

दुनिया की सबसे गहरी झील कौन सी है?

दुनिया की सबसे गहरी झील रूस की बयकाल झील है। माना जाता है कि यह झील कई करोड़ों सालों से है। बयकाल झील की औसत गहराई 744 मी. है। इस विशाल बयकाल झील का पानी मीठा है.

भारत की सबसे गहरी झील कौन सी है?

मानसबल झील भारत की सबसे गहरी झील (bharat ki sabse gahri jheel)  है। मानसबल झील को एशिया में सबसे गहरी झील भी कहा जाता है। साथ ही यह एशिया की सबसे बड़ी ताज़ा जल की झील है। मानसबल झील भारत में जम्मू-कश्मीर के जिले गंदरबल में है। जिस इलाक़े में मानसबल झील है उसका नाम है सफापोरा। यह इलाक़ा  श्रीनगर से 30 किमी की दूरी पर है।

Leave a Reply