Nostradamus Predictions Book (नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियों की बुक) – एक रहस्यमयी पुस्तक का विश्लेषण

Nostradamus Predictions Book: नास्त्रेदमस, एक ऐसा नाम जो सदियों से दुनिया भर के लोगों के मन में रहस्य और जिज्ञासा का प्रतीक रहा है। उनकी भविष्यवाणियों की पुस्तक, “Les Prophéties,” ने अनेकों घटनाओं को पूर्वानुमानित करने का दावा किया है। यह लेख नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियों की पुस्तक पर केंद्रित है, जिसमें हम इसके विभिन्न पहलुओं, इतिहास, विश्लेषण और विवादों पर चर्चा करेंगे।

नास्त्रेदमस का परिचय

नास्त्रेदमस का असली नाम मिशेल डे नास्त्रेदम था। उनका जन्म 14 दिसंबर, 1503 को फ्रांस के सेंट-रेमी-डी-प्रोवेंस में हुआ था। नास्त्रेदमस ने ज्योतिष और चिकित्सा के क्षेत्र में अध्ययन किया और कई वर्षों तक प्लेग जैसी बीमारियों के उपचार में भी योगदान दिया।

“Les Prophéties” का इतिहास: नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियों की बुक

नास्त्रेदमस ने 1555 में अपनी भविष्यवाणियों की पहली पुस्तक प्रकाशित की। यह पुस्तक “Les Prophéties” नाम से जानी जाती है। इसमें उन्होंने चार लाइन के छंद (quatrains) के रूप में अपनी भविष्यवाणियाँ लिखी हैं। यह छंद गूढ़ भाषा में लिखे गए हैं, जिससे उनकी व्याख्या करना कठिन हो जाता है। यह भी कहा जाता है कि नास्त्रेदमस ने जानबूझकर अपनी भविष्यवाणियों को अस्पष्ट रखा ताकि उन्हें किसी भी समय और स्थिति में फिट किया जा सके।

नास्त्रेदमस की प्रमुख भविष्यवाणियाँ

नास्त्रेदमस की पुस्तक में कई ऐसी भविष्यवाणियाँ हैं जिन्हें उनके अनुयायी सही मानते हैं। इनमें से कुछ प्रमुख भविष्यवाणियाँ निम्नलिखित हैं:

  1. ग्रेट फायर ऑफ लंदन (1666): नास्त्रेदमस ने 1666 में लंदन में लगी भीषण आग की भविष्यवाणी की थी। उन्होंने लिखा था, “सदी का एक तिहाई आग से जल जाएगा,” जिसे 1666 में लगी आग से जोड़ा गया।
  2. फ्रांसीसी क्रांति (1789-1799): नास्त्रेदमस ने फ्रांसीसी क्रांति के बारे में भी भविष्यवाणी की थी। उन्होंने लिखा था, “लोग अपने राजा और अभिजात वर्ग के खिलाफ उठ खड़े होंगे।” यह भविष्यवाणी फ्रांसीसी क्रांति के दौरान जनता के विद्रोह से मेल खाती है।
  3. एडोल्फ हिटलर का उदय: नास्त्रेदमस ने हिटलर के उदय के बारे में भी लिखा था। उन्होंने “हिस्टर” नाम का उल्लेख किया, जिसे हिटलर से जोड़ा गया।
  4. 9/11 आतंकवादी हमला: नास्त्रेदमस की कुछ भविष्यवाणियाँ 2001 के 9/11 आतंकवादी हमले से भी मेल खाती हैं। उन्होंने लिखा था, “नए शहर में दो महान पत्थर गिरेंगे,” जिसे न्यूयॉर्क के ट्विन टावर्स पर हमले से जोड़ा गया।

नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियों की व्याख्या

नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियों की व्याख्या हमेशा विवादों में रही है। उनकी लिखी गई गूढ़ भाषा और अस्पष्ट संदर्भों के कारण कई बार अलग-अलग लोगों ने उनकी भविष्यवाणियों को अलग-अलग तरीकों से समझा है। यह भी कहा जाता है कि नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियाँ बहुत ही सामान्य और बहुआयामी होती हैं, जिन्हें किसी भी घटना से जोड़ा जा सकता है।

नास्त्रेदमस की आलोचना

नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियों पर हमेशा से ही संदेह और आलोचना की जाती रही है। कई विद्वानों का मानना है कि उनकी भविष्यवाणियाँ सिर्फ संयोगवश सही साबित होती हैं। वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी उनकी भविष्यवाणियाँ आधारहीन मानी जाती हैं। उनकी लिखी गई अस्पष्टता और भविष्यवाणियों की व्याख्या में विविधता के कारण उन्हें हमेशा विवादों का सामना करना पड़ा है।

नास्त्रेदमस की पुस्तक की लोकप्रियता

नास्त्रेदमस की पुस्तक “Les Prophéties” की लोकप्रियता आज भी बनी हुई है। इसे कई भाषाओं में अनुवादित किया गया है और यह आज भी लोगों के बीच चर्चा का विषय बनी रहती है। नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियाँ और उनकी पुस्तक पर आधारित कई पुस्तकें, फिल्में और डॉक्यूमेंट्रीज बनाई गई हैं, जो उनकी लोकप्रियता को और भी बढ़ाती हैं।

नास्त्रेदमस की पुस्तक के रहस्य

नास्त्रेदमस की पुस्तक “Les Prophéties” के रहस्य ने लोगों को सदियों से मोहित किया है। उनकी भविष्यवाणियों की गूढ़ भाषा, उनकी व्याख्या की कठिनाई और उनकी सटीकता ने उन्हें एक रहस्यमयी व्यक्तित्व बना दिया है। उनकी पुस्तक आज भी रहस्य और जिज्ञासा का प्रतीक बनी हुई है।

नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियाँ और आधुनिक समाज

नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियाँ आज के आधुनिक समाज में भी महत्वपूर्ण मानी जाती हैं। उनके अनुयायी आज भी उनकी भविष्यवाणियों को सही मानते हैं और उन्हें भविष्य की घटनाओं का संकेत मानते हैं। हालांकि, वैज्ञानिक दृष्टिकोण से उनकी भविष्यवाणियाँ आधारहीन मानी जाती हैं, लेकिन उनकी लोकप्रियता और रहस्य ने उन्हें एक विशेष स्थान दिलाया है।

निष्कर्ष

Nostradamus Predictions Book in Hindi यानि नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियों की पुस्तक “Les Prophéties” एक रहस्यमयी और विवादास्पद पुस्तक है। उनकी भविष्यवाणियों की गूढ़ भाषा, उनकी व्याख्या की कठिनाई और उनकी सटीकता ने उन्हें एक रहस्यमयी व्यक्तित्व बना दिया है। उनकी पुस्तक आज भी रहस्य और जिज्ञासा का प्रतीक बनी हुई है और लोगों के बीच चर्चा का विषय बनी रहती है। हालांकि, वैज्ञानिक दृष्टिकोण से उनकी भविष्यवाणियाँ आधारहीन मानी जाती हैं, लेकिन उनकी लोकप्रियता और रहस्य ने उन्हें एक विशेष स्थान दिलाया है। उनकी पुस्तक “Les Prophéties” आज भी लोगों के बीच एक महत्वपूर्ण विषय बनी हुई है और उनके रहस्यों की खोज जारी है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Scroll to Top